पटना : नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कहा कि   2019 में नीतीश-मोदी किस मुंह से जनता के सवालों का सामना करेंगे, प्रधानमंत्री मोदी ने 2014 में किए गए अपने वादों में से एक भी वादा पूरा नहीं किया है। युवाओं,किसानों और जवानों को ठगने का काम किया है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तो पूरी राजनीति ही विश्वासघात और छल.कपट युक्त है। नीतीश कुमार 2010 में भाजपा के साथ सत्ता में आए लेकिन 2013 में भाजपा को लात मार दी। 2015 में भाजपा हराने के नाम पर सत्ता में आए और 2017 में जनप्रिय जनादेश को बीजेपी और आरएसएस की गोद में रख दिया।

श्री यादव ने कहा कि क्या भाजपा में ऐसा कोई माई का लाल है जो यह गारंटी दे सके कि 2019 में भाजपाई वोट लेकर चुनाव बाद नीतीश कुमार पलटी नहीं मारेंगे, अगर सुशील मोदी जैसे किसी भाजपाई ने अपनी मां का दूध पिया है तो बिहार की आम अवाम को गारंटी दे कि नीतीश कुमार जनता के साथ धोखाधड़ी नहीं करेंगे। अगर नीतीश कुमार की भी मंशा ठीक है और जनता के वोट को गिरवी नहीं रखने का इरादा है तो शपथ पत्र लिखकर दे कि वो जनता के वोटों के साथ ग़द्दारी नहीं करेंगे अर्थात् पलटी नहीं मारेंगे।

श्री यादव ने कहा कि मोदी और नीतीश कुमार को बिहार के विकास और जनकल्याण से ज्यादा झूठ,फरेब, छल,कपट, पलटीबाज़ी, गप्पेबाज़ी और जुमलेबाजी पर ज्यादा यकीन है और इन्हीं प्रपंचो के सहारे वो जनता को ठगने का प्रयास करेंगे लेकिन इस बार बिहार की जागरूक जनता वोट की चोट से इनके झूठ और वादाखिलाफी का मुंहतोड़ जवाब देगी।

Share To:

Post A Comment: