पटना : विधान पार्षद सह जदयू प्रवक्ता नीरज कुमार ने ट्वीट बहुत कठिन है डगर पनघट की। परिवार पार्टी में अपने चहेतों को टिकट देने की होड़ मची है, पर छोटे भाई आश्वासन देकर निकलते है तो बड़े भाई व दीदी उसका पत्ता साफ अपने आदमी की गोटी फिट कर देते है। इधर माताजी मायके के लोगो को आश्वासन दिए थे की सीधे श्जेलश् से फरमान आ गया। धन्य है!

पारिवारिक पार्टी में श्सीजनश् हैण् इस सीजन में ही कमाई कर लेनी होती है कि फिर निश्चिंत। इस खेल में पारंगत परिवार के मुखिया जेल से ही गोटी फिट करने में लगे हैं तभी तो खुद को अधिकृत करवा लिया, अरे, भाई कहावत नहीं है कि घी दाल में गिरे की भात में.... सेटिंग जो करे लाभ तो परिवार का ही। बबुआ आपके पिताजी लालू प्रसाद यादव जीए जो राजद के अध्यक्ष भी है किस जुर्म में सजा काट रहे? पिताजी भ्रष्टाचारी और पुत्र प्रवचनकर्ता। कहावत है न पिता के नाम साग पात और पूत के नाम गेनहारी। शर्म करे, शर्म।


Share To:

Post A Comment: