पटना :  राजद प्रवक्ता चितरंजन गगन ने एनडीए को नेशनल डिफॉल्टर एलायंस बताते हुए कहा कि आज महागठबंधन में शामिल दलों के उम्मीदवारों के साथ हीं क्षेत्रों की घोषणा के बाद एनडीए की बेचैनी काफी बढ़ गई है। पिछले लोकसभा चुनाव में जनता से किये गये वादे को पूरा नहीं करने की वजह से वे जनता के बीच मुंह दिखाने की स्थिति में नहीं हैं।

        महागठबंधन के बारे में टिप्पणी करने के बजाय एनडीए नेताओं को अपनेअवसरवादी गठबंधन के बारे में लोगों को बताना चाहिए। जिसक गठन हीं ऐन-केन-प्रकारेण सत्ता में बने रहने के लिए किया गया है। यदि जदयू नेताओं के बयानों पर हीं भरोसा किया जाए तो उनके और भाजपा के नीति सिद्धांतों में भारी अन्तर्विरोध है। वहीं महागठबंधन में शामिल दलों के नीति और सिद्धांतों के बीच काफी समानताएं हैं। इसका गठन हीं देष के संविधान और लोकतांत्रिक व्यवस्था की रक्षा के लिए किया गया है। महागठबंधन जहां जनता से जुड़े मुद्दों की बात करती है वहीं एनडीए द्वारा केवल व्यक्ति विषेष की बात की जाती है।


Share To:

Post A Comment: