पटना: बिहार कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता सदानंद सिंह ने यूएनओ में चीन द्वारा वीटो लगाकर मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित कराने से रोक देने की घटना की निंदा एवं भत्र्सना करते हुये कहा कि ड्रैगन हमारा मित्र हो ही नहीं सकता है। ऐसा कर उसने हमें दुख पहुंचाया है। लेकिन उससे भी दुखद यह है कि मोदी सरकार की कूटनीति एक बार फिर विफल साबित हुई है।

श्री सिंह ने कहा कि यों तो मोदी सरकार की विदेश नीति हर महत्वपूर्ण मौकों पर विफल ही साबित होती रही है। जिसका खामियाजा देश भुगतता रहा है।पर पुलवामा घटना के बाद जिस तरह से हमारी केंद्र सरकार जैश-ए-मुहम्मद और मसूद अजहर के विरुध्द सक्रीय हुई थी, उससे उम्मीद बंधी थी कि इस बार यूएनओ में अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित कराने में सफलता मिलेगी। सुरक्षा परिषद् के स्थायी सदस्यों रूस, अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन का भी अपेक्षित सहयोग मिल रहा था। लेकिन चीन को अपने पक्ष में करने में हमारी सरकार विफल रही। जिससे आज भारत को असफलता का मुंह देखना पड़ रहा है। श्री सिंह ने कहा कि आतंकवाद से हर मुल्क परेशान है। चुनाव के बाद यदि कांग्रेस की सरकार बनती है तो हमारी नई सरकार आतंकवाद के विरुद्ध वैश्विक धु्रवीकरण को इतना मजबूत करेगी कि भारत को ऐसे दिन फिर से देखना न पड़े।


Share To:

Post A Comment: