पटना : बिहार निषाद संघ कार्यालय में पत्रकारों से वार्तालाप कर संध के प्रदेश अध्यक्ष ई. हरेन्द्र प्रसाद निषाद ने कहा कि लोकसभा चनुाव 2019 में जदयू द्वारा 14 प्रतिशत आबादी वाले निषाद समाज से एक भी निषाद उम्मीदवार न बनाकर निषादों का घोर अपमान किया गया है जिससे निषाद समाज में जदयू के प्रति आक्रोश व्याप्त है। 
संघ के महासचिव रामाशीष चौधरी ने कहा कि मुख्यमंत्री का कथन सबका साथ सबका विकास झूठा साबित हो रहा है। पिछले लोकसभा एवं विधानसभा चुनावों में अतिपिछड़ों का मसीहा मानकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को बिहार के निषादों ने समर्थन किया था लकिन इस चुनाव में निषादों की घोर उपेक्षा से निषादों की आशाएं धूमिल हो चुकी है। लोकसभा चुनाव में जदयू का समर्थन निषाद बाहुल्य लोकसभा क्षेत्रों से निषाद उम्मीदवार खड़ा किया जायेगा। जैसे झंझारपुर से उपेन्द्र सहनी, कटिहार से गंगा केवट, मुंगेर से संजय बिन्द, पटना साहिब से विजय कुमार सहनी संघ की ओर से उम्मीदवार होंगे। अन्य क्षेत्रों से उम्मीदवार का शीघ्र निर्णय लिया जायेगा। उम्मीदवार नहीं होने पर वहां निषाद समाज नोटा का इस्तेमाल करेगा।
इस अवसर पर चरितर चौधरी, अवध कुमार चौधरी, धीरेन्द्र कुमार निषाद, शशिभूषण कुमार, सुरेश प्रताप सहनी, दिलीप कुमार निषाद, जीबोधन निषाद, सुरेश निषाद, रामजतन चौधरी, मनोज निषाद, देशेश जलज, रघुनाथ महतो, विनोद स हनी, गोरख निषाद, विजय कुमार सहनी, कैलाश सहनी, अजय कुमार निषाद, अभिमन्यु निषाद, जितेन्द्र कुमार इत्यादि उपस्थित थे।

Share To:

Post A Comment: