जमुई लोकसभा : वर्ष 2014 में नारा था कि मोदी लाओ देश बचाओ, अब 2019 का नारा यह है कि नौजवानों को हुनरमंद इतना बना दो कि वह दस लोगों को नौकरी दे सके। जमुई क्षेत्र बिहार-झारखंड बॉर्डर पर स्थित है इस क्षेत्र में पहाड़ और जंगल अधिक होने के कारण नक्सली एरिया भी कहा जाता है। यहां के दलित-आदिवासी आज भी जंगल का सखुआ के दतुअवन बिक्री करके दो वक्त की रोटी से गुजारा करते हैं। जमुई क्षेत्र 1991 में नया जिला बना था। 2009 से यह लोकसभा के अस्तित्व में आया और देश का चुनाव आयोग जमुई को सुरक्षित क्षेत्र घोषित किया। इस क्षेत्र पर दस साल तक राजग का कब्जा रहा। जदयू के भूदेव चौधरी ने 2009 में जीत दर्ज करायी थी उन्होंने राष्ट्रीय जनता दल के कद्दावर नेता श्याम रजक को पराजित किया था। 2014 में यह सीट लोजपा के खाते में चली गयी और यहां पर एनडीए का उम्मीदवार और देश के सबसे बड़े नेता रामविलास पासवान के पुत्र चिराग पासवान फिल्मी दुनिया छोड़ कर राजनीति में पांव फैलाते हुए जमुई क्षेत्र के सांसद बने। 

 

मोदी की लहर में चिराग पासवान चुनाव जीतकर पांच साल तक यहां की जनता की सेवा की। चिराग का कहना है कि जब से हमने जमुई क्षेत्र जीता है तब से दलित-आदिवासी को पलायन से रोकने का काम किया हॅू। मगर यह कथन अब भी झूठा ही है क्योंकि अब भी दलित आदिवासी की स्थिति में कोई सुधार नहीं हुई है।  जमुई की कुल जनसंख्या 1421057 है जिसमें अनुमानित ब्राह्मणों की संख्या 40477, राजपूत- 87215, भूमिहार- 57636, कायस्थ- 11091, मुसलमान- 148825, यादव- 282759, कोयरी- 79525, कुर्मी- 37907, मल्लाह- 1372, बनिया- 52903, धानुक- 49035, कुम्हार- 25089, कहार- 32352, कलवार-जायसवाल- 431 है। जमुई लोकसभा क्षेत्र के छह विधानसभा क्षेत्र में तारापुर से जदयू, शेखपुरा से जदयू, सिकन्दरा से कांग्रेस, जमुई से राजद, झाझा से भाजपा, चकाई से राजद के विधायक हैं। इस बार बहुजन समाज पार्टी अपने आपको दलित उद्यमी कहलाने वाले उपेन्द्र रविदास मुल्लक झाझा के रहने वाले हैं। वे बहन मायावती के पार्टी से उम्मीदवार हैं। जगह-जगह प्रचार कर रहे हैं। मगर मुख्य मुकाबला महागठबंधन और एनडीए के बीच होना है।लोकतंत्र का महापर्व का मतदान 11 अप्रैल से शुरू होने वाला है। यहां पर दलित-आदिवासी, गरीब-गुरबा का कथा जीतकर जाने वाले दिल्ली में पवित्र गंगा कहे जाने वाले लोकसभा में कितने मामले का हल करते हैं यहां के पहाड़ और जंगल को कितना खुशहाल बनाते हैं यह समय बतायेगा।


Share To:

Post A Comment: