पटना, : भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता सुरेश रूंगटा ने कहा कि कांग्रेस का गरीबी दूर करने के नाम पर गंदी राजनीति करना एवं गरीबों को ठगने का पुराना इतिहास रहा है। कांग्रेस ने गरीबी उन्मूलन का नारा देकर कई बार लोगों को पहले भी धोखा दिया है। इस बार पुन: राहुल गांधी ने गरीबों के वोट के लिए झांसा देने की योजना पेश की है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी 5 करोड़ लोगों को 72 हजार रूपया सालाना देने की बात कह रहे हैं, यानि देश की अर्थव्यवस्था पर 3.60 लाख करोड़ रूपये का सीधा अतिरिक्त भार। वर्तमान में मोदी सरकार देश के करीबन 22 प्रतिशत लोगों को विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से कुल 5 लाख 34 हजार करोड़ रूपये यानि 1 लाख 6 हजार 800 रूपये सालाना, लगभग 8.9 हजार रूपया महीने का डायरेक्ट उनके बैंक खातों में दे रही है।

उन्होंने बताया कि राहुल गांधी क्या मोदी सरकार द्वारा दी जा रही इन सभी सब्सिडी को बंद करेंगे या कम करेंगे या फिर अलग से देने की योजना है , कुछ भी स्पष्ट नहीं किया है। यदि मोदी सरकार द्वारा दी जा रही सब्सिडी के अलावा अलग से राशि देने की योजना है तो कांग्रेस को बतलाना चाहिए कि यह 3.60 लाख करोड़ रूपये का अतिरिक्त राजस्व कहां से आयेगा? क्या नये कर लगाये जायेंगे या फिर नोट छाप कर बांटे जायेंगे? दोनों ही स्थिति में महंगाई की दर बढक़र दोगुनी-तिगुनी से भी ज्यादा हो जायेगी। इससे गरीबों को क्या फायदा होगा? एक तरफ से आयेगा तो दूसरी ओर से बढ़े खर्च से निकल जायेगा। नेट में बचत शून्य, बात वहीं की वहीं । यह है कांग्रेस की गरीबी उन्मूलन के नाम पर आखिरी ठग योजना।


Share To:

Post A Comment: