पटना : असली देशी पाटी-अदेपा द्वारा होली मिलन समारोह का आयोजन किया गया। राजधानी पटना के बाईपास स्थित माही उत्सव हॉल में इस समारोह में शरीक पार्टी नेताओं एवं कार्यकर्ताओं ने जमकर अबीर-गुलाल की होली खेली। सैकड़ों की तादाद में एकत्रित पार्टी नेताओं, कार्यकर्ताओं एवं समर्थकों पर होली की खुमारी कुछ ऐसी चढ़ी की उम्र, पद और कद का ख्याल किये बिना बेहिचक एक-दूसरे को गुलाल एवं गले लगाकर होली की बधाइयां दी।
लोकतंत्र का उत्सव चुनाव के इस मौसम में आपसी सद्भाव, सौहार्द, प्रेम, भाईचारा और हर रंजिश भूलकर एक दूसरे को गले लगाने का प्रतीक पर्व होली के जश्न को लेकर सियासी गलियारे में कुछ ज्यादा ही उत्साह देखने को मिल रहा ह। असली देशी पार्टी के इस होली मिलन समारोह में स्थानीय लोगों ने भी बढ़-चढक़र हिस्सा लिया। फागुनी गीतों पर पार्टी समर्थकों ने झूमते हुए फूलों की होली भी खेली। ललन यादव ने कहा कि होली सभी के जीवन मे बहुत सारी खुशियॉ और रंग भरता है। यह लोगो के बीच एकता और प्यार लाता है इसलिए रंगोत्सव के साथ-साथ यह प्यार का भी त्यौहार है। उन्होंने कहा कि यह एक पारंपरिक और सांस्कृतिक त्यौहार है जो प्राचीन समय से पुरानी पीढिय़ों द्वारा मनाया जाता रहा है। नयी पीढ़ी इसका अनुकरण करता है। श्री बिहार की सभी 40 लोकसभा सीटों पर अपना उम्मीदवार उतारेगी। इसके लिए प्रत्याशियों का चयन अंतिम दौर में है और एक-दो दिनों के अंदर उम्मीदवारों की घोषणा की जायेगी।
उन्होंने कहा कि दल-बदलू और खानदान की राजनीति करने वाले उम्मीदवारों को चारो खाने चित करने को ध्यान में रखते हुए ही पार्टी ने प्रत्याशियों की सूचि तैयार की है ताकि राजनीति से परिवार लिमिटेड पार्टी का खात्मा किया जा सके। ललन यादव ने कहा कि राजनीति जनता की सेवा करने के लिए की जाती है लेकिन आज-कल कुछ नेता इसे खानदानी जागीर समझ बैठे हैं जो इसके माध्यम से अपनी आनेवाली पीढ़ी दर पीढ़ी के लिए अकूत सम्पति अर्जित करने में लगे हैं। ऐसे लोग जातीय समीकरण और अपने समाज की आबादी के आंकड़ों में लोगों को उलझा कर सिर्फ अपनी सियासी रोटी सेकने में लगे हैं। लेकिन जनता अब उनके मंसूबों को भलीभांति समझ चुकी है और इस बार उन्हें सियासी समर में मुंह की खानी पड़ेगी।

Share To:

Post A Comment: