पटना :उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने  ट्वीट कर कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने कैबिनेट के पहले फैसले से कालाधन के खिलाफ एसआईटी का गठन किया, बेनामी सम्पत्ति जब्त करने के लिए कड़ा कानून बनाया और नोटबंदी से कालाधन रखने वालों की कमर तोड़ दी। गरीबों के पैसे की ऐसी कड़ी चौकदारी हुई कि पांच साल में जमीन घोटाला करने वाला प्रियंका राबर्ट वाड्रा परिवार, होटल के बदले जमीन और फर्जी कंपनियों के जरिये बेनामी सम्पत्ति बनाने वाला लालू-राबड़ी परिवार समेत देश भर के सारे घोटालेबाज ईमानदार चौकीदार को ही हटाने के लिए शोर मचाने लगे। चोरों के शोर मचाने से ईमानदारी पराजित नहीं होती।

श्री मोदी ने कहा कि पहली बार बिजली चुनावी मुद्दा नहीं है। बिहार के हर गांव और घरों में बिजली पहुंच चुकी है। अब लोगों को अंधेरे का डर नहीं सता रहा है। ऐसे में जागरूक मतदाताओं को लालटेन मुक्त बिहार बनाने का संकल्प लेना चाहिए।  सवर्णों को मोदी सरकार द्वारा आर्थिक आधार पर दिए गए 10 प्रतिशत आरक्षण का राजद ने संसद से लेकर विधान सभा तक में पुरजोर विरोध किया। लालू यादव ने कभी भूरा बाल साफ  करो का फतवा देकर अपना सवर्ण विरोधी चेहरा उजागर किया था।  इस चुनाव में सवर्ण मतदाता राजद को माफ  करने वाले नहीं है। शत्रुजी मुफ्त  की मित्रवत  सलाह है । उम्र के इस पड़ाव पर अपनी और फजियत मत कराइए। पटना साहिब में पांच भाजपा के एमएलए हैं । पोलिंग एजेंट भी आपको मिलना मुस्कील हो जाएगा । बेहतर होगा चुनावी जंग छोड़ दें और यशवंत क्लब में शामिल हो जायें।


Share To:

Post A Comment: