पटना, (रिर्पोटर) : बिहार निषाद संघ कार्यालय में स्वतंत्रता सेनानी, साहित्यकार वीरसेन बाबू की 35वीं पुण्यतिथि मनायी गयी। जिसकी अध्यक्षता निषाद संघ के अध्यक्ष ई. हरेन्द्र प्रसाद निषाद ने की। इस अवसर पर उपस्थित संघ के नेताओं एवं समाजसेवियों ने उनके चित्र पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। कार्यक्रम में वीरसेन बाबू की छोटू बहू कृष्णा देवी भी उपस्थित थी जो वर्तमान मं बिहार निषाद संघ के उपाध्यक्ष है।

उन्होंने कहा कि जब निषाद  समाज घोर अशिक्षा, नशा, बाल विवाह, आर्थिक व सामाजिक समस्याओं से जुझ रहा था तब उन्होंने इसके उत्थान के लिए संघर्ष किया था। आज इन्हीं के बताये रास्ते पर चलने की जरूरत है। संघ महासचिव रामाशीष चौधरी ने कहा कि वीरसेन बाबू साहित्यकार थे। उन्हें दीर्घकालीन हिन्दी साहित्य सेवा के पुरस्कार से नवाजा गया था। जो निषाद समाज के लिए गौरव की बात हैं। मंच संचालन धीरेन्द्र निषाद ने किया।

इस अवसर पर ऋषिकेश कश्यप निषाद चरितर चौधरी, अवध कुमार चौधरी, विजय कुमार सहनी, विनोद सहनी, मनोज सहनी, जीबोधन निषाद, दिलीप कुमार निषाद, सुरेश कुमार सहनी आदि उपस्थित थे।


Share To:

Post A Comment: