पटना, (रिर्पोटर) : राजद  नेता तेजस्वी यादव सामाजिक न्याय के साथ गरीब व दलितों को मुख्यधारा में लाने का दावा पेश कर कहा कि डा. भीमराव अम्बेडकर, कर्पूरी ठाकुर, जेपी, लोहिया के बाद गरीबों को मुख्यधारा से जोडऩे एवं आवाज देने का काम  लालू प्रसाद यादव ने किया। देश किसी की बपौती नहीं है। यहां सम्मान के साथ स बों को जीने का हक है। राजद प्रदेश कार्यालय में पार्टी का चुनावी घोषणा पत्र जारी कर उन्होंने कहा कि केन्द्र की सरकार में राजद की साझेदारी होने पर हर हाथ में रोटी और कलम देने का काम किया जायेगा। राजद कांग्रेस की योजना का समर्थन करता है। यह योजना बिहार हित में होगा, सभी को इस योजना से ल ाभ मिलेगा। सवर्णों को मिलने वाला आरक्षण का राजद विरोधी नहीं है। आरक्षण सवर्ण अमीरों को मिला है न कि गरीब सवर्णों को। केन्द्र में महागठबंधन की सरकार बनने के बाद सरकारी नौकरी में मिलने वाला आरक्षण में संशोधन किया जायेगा। साथ ही निजी क्षेत्र में भी आरक्षण दिये जाने के प्रावधान लागू होगी। सरकारी नौकरी में रिक्त सभी पदों को भरा जायेगा। 7वां एवं 8वां पास युवकों को सिपाही में भर्ती होगी।

उन्होंने कहा कि जीडीपी का 6 प्रतिशत शिक्षा एवं 4 प्रतिशत स्वास्थ्य पर खर्च किया जायेगा। रोजगार के लिए यहां के लोगों को बाहर नहीं जाना पड़ेगा जो बाहर में होंगे उन बिहारियों के लिए यहां हेल्प सेंटर खेले जायेंगे। देश व राज्य में आबादी के अनुसार आरक्षण का  लाभ मिलना चाहिए। केन्द्र में महागठबंधन की सरकार बनते ही 2021 में जातीय जनगणना लागू किया जायेगा। राजद गरीबों के आवाज को बुलंद करने का काम करेगा। उन्होंने कहा कि देश में समतामुलक समाज बने। गरीबों, दलितों व अल्पसंख्यकों के साथ लम्बे अर्सें तक हकमारी किया जाता रहा, सबों को उनका वाजिब हक मिलना चाहिए। स्वास्थ्य शिक्षा एवं रोजगार से कोई वंचित नहीं रहे।

इस अवसर पर पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डा. रामचन्द्र पूर्वे, महासचिव आलोक मेहता, राज्यसभा सदस्य मनोज झा, मदन शर्मा, चन्देश्वर प्रसाद समेत अन्य राजद नेता उपस्थित थे।

 


Share To:

Post A Comment: