पटना, (रिर्पोटर) : कांग्रेस पर निशाना साधते हुए भाजपा प्रदेश प्रवक्ता सह पूर्व विधायक ने कांग्रेस को देश की सबसे बड़ी महिला विरोधी पार्टी बताया. उन्होंने कहा “ अपनी करतूतों के कारण कांग्रेस पार्टी अब पूरे वेग से अपने पतन के तरफ बढती जा रही है. कांग्रेस में भ्रष्टाचार और वंशवाद पहले से ही था और अब महिलाओं का अपमान करना इनका नया शौक बन गया है. स्थिति यह है कि कांग्रेस के प्रमुख प्रवक्ताओं में शुमार प्रियंका चतुर्वेदी जी ने इनके अहंकार महिलाओं के प्रति ख़राब रवैए से तंग आ कर कांग्रेस को गुंडों की पार्टी करार दे दिया. बाद में उन्होंने अपने अपमान से दुखी हो कर पार्टी भी छोड़ दी. अपने साथ अशोभनीय हरकत करने वाले पार्टी कार्यकर्ताओं पर आलाकमान द्वारा कोई कारवाई नही होने से मजबूर हो प्रियंका को यह कदम उठाना पड़ा. इससे पहले कुछ महीने पूर्व कांग्रेस के कुछ नेताओं पर दिल्ली में राहुल गांधी के दफ्तर में ही सोशल मीडिया सेल में काम करने वाली महिला से अभद्र व्यवहार का मामला सामने आया था. पीड़ित महिला ने इसकी शिकायत दिल्ली पुलिस कमिश्नर से की थी. पुलिस ने तो कारवाई की लेकिन पार्टी की तरफ से इस मामले में कोई कदम नही उठाया गया. इससे साफ़ साबित है कि कांग्रेस के लिए महिला सशक्तिकरण का मुद्दा केवल घोषणापत्र तक सीमित है, वास्तव में इन्हें महिलाओं के मान, सम्मान से कोई मतलब नही है.”

भाजपा प्रवक्ता ने कहा “ यह पहला मौका नही है जब कांग्रेस की महिला विरोधी छवि सामने आयी हो. याद करें तो इनके एक कद्दावर नेता सिद्धारमैया ने शिकायत करने आयी एक मजबूर महिला के साथ सरेआम अभद्रता की थी. वहीं राहुल गाँधी के खासमखास माने एमपी के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने हालिया मप्र चुनाव के वक्त महिलाओं को सजावट का सामान कहा था. अब जिस पार्टी में इस तरह के मानसिकता वाले नेताओं की हो वहां प्रियंका जी या कांग्रेस दफ्तर में काम करने वाली महिला जैसे कर्मठ कार्यकर्ताओं की मदद को कौन आगे आएगा. ऐसे में सवाल उठता है कि जो पार्टी अपनी जुझारू प्रवक्ता तक को न्याय नहीं दिला पायी वह जनता के साथ क्या न्याय करेगी?

Share To:

Post A Comment: