आरा, (रिर्पोटर) : प्रसपा-लो. के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने आरा संसदीय क्षेत्र से मुझे लोकसभा प्रत्याशी के रूप में उतारने का फैसला किया था लेकिन आरा संसदीय क्षेत्र में मैंने अनुरोध करके इस सीट को यादव समाज के एक योग्य एवं कुशल उम्मीदवार जैन कॉलेज के पूर्व विभागाध्यक्ष प्रो. अनिल कुमार यादव को उम्मीदवार बनाने का निर्णय लिया और उन्हें अपनी सीट समर्पित करने का फैसला किया है। भोजपुर जिले में आज के समय में  यादव समाज को एक नये नेतृत्व की जरूरत है जो समाज के सुख दुख में सहभागी बने। मैं चाहता हॅू कि इस जिले में जहां एक तरफ राजनीति कर ने वाले सामाजिक विकृति पैदा कर रहे हैं वहीं हम प्रसपा-लो. की ओर से पिछड़ों व सवर्णों का एक नया समीकरणबनाना चाहते हैं जो आने वाले विधानसभा चुनावों में भी जिले में सामाजिक न्याय को अपना सके। इसी उद्देश्य से मैंने अपनी सीट जो पूर्व में तय की गयी थी उसकी जगह पर प्रो. अनिल कुमार यादव को अध्यक्ष की हैसियत से समर्पित करता हॅू। जिले के बुद्धिजीवियों से अपील करता हॅू कि इसमें सहयोग करें ताकि जिले में साफ-सुथरी राजनीति को जगह और मौका मिले। बिहार प्रदेश प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सह पूर्व विधायक सिद्धनाथ राय ने आज आरा लोकसभा क्षेत्र से पार्टी के लोकसभा प्रत्याशी अनिल कुमार को चुनाव मैदान में उतारने की घोषणा की। श्री राय ने कहा कि अनिल कुमार युवा एवं कर्मठ समाजसेवक है और एक दशक से समाज सेवा से जुड़े हैं।
उधर, बिहार प्रदेश प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एवं पूर्व विधायक सिद्धनाथ राय ने सासाराम सुरक्षित लोकसभा क्षेत्र से पार्टी की लोकसभा प्रत्याशी श्रीमती निर्मला देवी को चुनावी मैदान मेंउतारने की घोषणा की। श्री राय ने कहा कि निर्मला युवा एवं कर्मठ समाजसेवी है और एक दशक से समाजसेवा में जुड़ी है। निर्मला देवी 25 अप्रैल को अपना नामांकन पर्चा दाखिल करेंगी। पूरे संसदीय क्षेत्र के छह विधानसभा क्षेत्रों से हजारों की संख्या में कार्यकत्र्ता उनके नामांकन में ंउपस्थित रहेंगे। पार्टी के रज्ञष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव के प्रति सभीवर्गों  में आस्था और विश्वास बढ़ा है।  श्री राय ने कहा कि भाजपा नेताओं ने सासाराम की घोर उपेक्षा की है और यहां की जन समस्याओं पर ध्यान नहीं दिया। जिसके कारण रोहतास जिला आज बिहार के सभी जिलों से विकास के मामले में पीछे है। इस अवसर पर प्रसपा की प्रदेश महिला मोर्चा की अध्यक्षा उपासना वैश्य भी उपस्थित थी।
आरा में प्रसपा की सीधी टक्कर भाजपा उम्मीदवार से होगी। अनिल कुमार 26 अप्रैल को अपना पर्चा दाखिल करेंगे। पूरे संसदीय क्षेत्र के छह विधानसभा क्षेत्रों से हजारों की संख्यामें पार्टी के कार्यकत्र्ता उनके नामांकन में उपस्थित रहेंगे। आरा संसदीय क्षेत्र में प्रसपा ने अपना मजबूत जनाधार  खड़ा किया है और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव के प्रति सभी वर्गों में आस्था एवं विश्वास बढ़ा है। श्री राय ने कहा कि भाजपा के नेताओं ने घोर उपेक्षा की ओर यहां की जन समस्याओं पर ध्यान नहीं दिया। जिसके कारण आरा जिला आज बिहार के सभी जिलों से विकास के मामले में पीछे है। यहां के किसानों की हालत जर्जर हो चुकी है। नौजवान बेकारी एवं गरीबी के शिकार हैं। महिलाओं की सुरक्षा व्यवस्था में गिरावट आयी है। पंचायतों में विकास के कार्य की गति धीमी है। व्यवसायी भी अपने को असुरक्षित महसूस कर रहे हंैं। दूसरी ओर नरेन्द्र मोदी की सरकार और भाजपा लोगों को लोक- लुभावन नारे और जुमलेबाजी के भ्रम में डालकर वोट बटोरना चाहती है। भाजपा के पिछले सभी वादे नाकाम रहे हैं लोगों का विश्वास भाजपा से उठ गया है।
दूसरी ओर महागठबंधन टिकट बेचने वाले और जातिवाद का समीकरण  बनाकर येन-केन-प्रकारेण सत्ता हासिल करने के प्रयास में है। महागठबंधन ने सारी राजनैतिक मर्यादाओं को ताक पर रखकर भीषण नरसंहार करने वाली पार्टियों को अपने साथ शामिल कर  यह साबित कर दिया है कि इनका इरादा क्या है। प्रसपा आरा की जन समस्याओं के लिए निरंतर संघर्ष करने का संकल्प लेती है और आरा की जनता से अपील करता हॅू कि इस चुनाव में राजनैतिक परिवर्तन करें और क्षेत्र के सर्वांगीण विकास के लिए सुयोग्य जन प्रतिनिधि चुनें ताकि पांच वर्षों तक अफसोस नहीं करना  पड़े।

Share To:

Post A Comment: