पटना, (रिर्पोटर) : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को बिहार का मुख्यमंत्री बनाने में पूर्व मंत्री वृषिण पटेल का अहम रोल रहा। जब 2005 में वृषिण पटेल गांव-गांव घुमकर बिहार के नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री बनाने का काम किया। जब नीतीश कुमार मुख्यमंत्री बन गये तो आज वे किसी को पहचानते नहीं है। लेकिन वृषिण पटेल कोई छोटे नेता  नहीं बल्कि बिहार के कद्दावर मंत्री थे जो विभाग उन्होंने लिया उसे जमीन पर उतारने का काम किया। ये बातें रालोसपा सुप्रीमो उपेंद्र कुशवाहा अपने कार्यालय में वृषिण पटेल आज पंखा छाप का सदस्यता ग्रहण करने के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए कही।

 उन्होंने कहा कि वृषिण पटेल हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा से. को दो माह पहले ही छोड़ दिये और आज हमारे पार्टी में शामिल हो गये। उनके पार्टी में आने से पूरे बिहार में हमारी पार्टी मजबूत होग। श्री कुशवाहा ने कहा कि महागठबंधन 40 सीट पर जीतेगी। नरेन्द्र मोदी जितना बार भी बिहार का दौरा करें लेकिन इससे महागठबंधन को कोई फर्क नहीं पडऩे वाला। उनके जमुलाबाजी बयान में बिहार की जनता अब आने वाले नहीं। उन्होंंने दलित आदिवासियों को ठगने का काम किया। पिछले दिनों आरपीएफ के परीक्षा में इन्होंने पिछड़ों को आरक्षण नहीं दिया साथ ही ओबीसी, पिछड़ा, अतिपिछड़ा का आरक्षण समाप्त कर ने के लिएबड़ा एजेंट आरएसएस ने लागू किया। मोदी जी कहते फिर रहे हैं मैं देश का चौकीदार हॅू लेकिन चौकीदारी करते करते दलित पिछड़ा आदिवासी के आरक्षण को ही समाप्त कर दिया। क्या ऐसे होते हैं चौकीदार?

पार्टी की सदस्यता ग्रहण करने वालों में सुभाष चंद्रवंशी, राजेश कुमार गुप्ता, आशीष पटेल, रविरंजन कुमार, डा. विनोद, शाहनवाज बानो, डा. सुजाता, विरेंद्र उपाध्याय, अमित पटेल, रियाजउद्दीन बाखो, ठाकुर धर्मेंद्र सिंह, संतोष कुमार गुप्ता, अशोक कुमार गुप्ता, मो मसूदरजा, सचिन माझी, रवि भूषण पटेल, अंजनी पटेल, डा. शाहजहां, अजय कुमार राय, संजय सिंह, पीयूष कुमार, बंटी चंद्रवंशी, पवन कुमार राय, रवि चौधरी, चंदन कुशवाहा, सुबोध पासवान, लडडू सिंह, मानवेंद्र त्रिपाठी, दीपक कुमार डिंपल, सूर्यो पासवान, शैलेश कुमार, राजेश रोशन, मनोज कुमार, बच्चा बाबू, बबन यादव, दिलीप पासवान, लालसा देवी, पूनम सिंह, सुचिता कुमारी, प्रगति पटेल, नरेंद्र मिश्रा, प्रो. विनय पटेल, मेजर सिंह, प्रो. मुजाउदीन, श्रवण कुमार बबलू पटेल, फिरोज आलम, आनंदी महत, उदय कुमार, ई. दिलीप, मनोज, कुमार,  मयक राज और अवध किशोर सिन्हा शामिल थे।

प्रेसवार्ता में राष्ट्रीय प्रवक्ता माधव आनंद, राजेश यादव, सत्यानंद दांगी, कंचन चौधरी, फजल इमाम मल्लिक, अख्तर नेहाल, अनिल यादव, भोला शर्मा, अशोक कुशवाहा, योगेश कुशवाहा उपस्थित थे।



Share To:

Post A Comment: