पटना, (रिर्पोटर) : पूर्व मुख्यमंत्री  राबड़ी देवी ने कहा कि मोदी बिहार आकर भाषाई आतंक फैला रहे है। पद की गरिमा और मर्यादा त्याग सीधे-सीधे गुंडागर्दी पर उतर आए है। ऐसी भाषा तो गली के गुंडो की होती है। विपक्षियों को जेल भेजने की धमकी दे रहे है। सुनो मोदी, हर बिहारी नीतीश की तरह डरपोक नहीं होता। बिहार की जनता तानाशाहों की हेकड़ी निकालना जानती है। यही नहीं मोदी आज मुजफ्फरपुर में थे। मुजफ्फरपुर बालिका गृह बलात्कार कांड सबको याद होगा जहां सत्ता संरक्षण में 34 नादान बच्चियों के साथ जनबलात्कार किया गया। बलात्कारी नीतीश और मोदी के मंत्री और नेता थे। लेकिन 1 साल से मोदी ने इस घिनौने और जघन्य कांड पर एकबार भी मुंह खोल निंदा नहीं की। मोदी और नीतीश तो बलात्कारियों के संरक्षक है। नीतीश पर इस कांड की सीबीआई जांच भी चल रही है। इन्हें बचाने के लिए सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद सीबीआई जांच अधिकारी को रातों-रात बदला गया। और यहां आकर यह फर्जी आदमी प्रवचन दे रहा है। कुछ शर्म बची है कि नहीं। आजतक मोदी इस कांड पर नहीं बोला।  मोदी विपक्षियों को जेल की धमकी देगा लेकिन दंगाईयों, बलात्कारियों को मंत्री बनाएगा। अपने जात-बिरादर भाईयों नीरव मोदी, ललित मोदी, आरके मोदी, रेखा मोदी, चौकसी आदि को विदेश भेजेगा। इतना दोहरापन कहां से लाता है ये गुजराती जोड़ा? हार देख ये बौखला गए है जैसे 2015 बिहार चुनाव में बौखलाए थे।

Share To:

Post A Comment: