पटना, (रिर्पोटर) : यादव बाहुल्य क्षेत्र माना जाने वाला पाटलिपुत्रा लोकसभा क्षेत्र में भाजपा प्रत्याशी रामकृपाल यादव एवं राजद प्रत्याशी मीसा भारती के बीच सीधा मुकाबला माना जा रहा है। वहीं इस चुनाव को असली देशी पार्टी के  प्रत्याशी मंटू यादव उर्फ मंटू भगत त्रिकोणात्मक बनाने में प्रयासरत हैं। ये तीनों प्रत्याशी यादव जाति से हैं। 2009 के नये परिसीमन में पटना  लोकसभा      बंटकर पटना साहिब एवं पाटलिपुत्रा क्षेत्र हो गयी।  2014 में राजद से नाखुश चलने वाले पार्टी के कद्दावर नेता रामकृपाल यादव भाजपा के टिकट पर चुनाव लडक़र अपने प्रतिद्वंदी राजद के मीसा भारती को हराने में सफल रहे। जातीय मत के अलावे अन्य मतों एवं क्षेत्र में किये काम के आधार पर राजद एवं भाजपा जीत का दावा ठोक रहा है।
वहीं चुनावी कमर कसे असली देशी पार्टी के प्रत्याशी मंटू भगत क्षेत्र की समस्या से जनता को रू-ब-रू     कराते हुए चुनावी दंगल को अपने पक्ष में करने को लेकर जनता के बीच पहुंचने लगे हैं। उन्होंने सरकार के विकास की बात को खोखला बताते हुए कहते हैं कि राजधानी तथा मुख्य सडक़ों की मरम्मती से ग्रामीण क्षेत्रों का विकास नहीं हो स सकता है। इस क्षेत्र में सडक़, स्वास्थ्य, शिक्षा जैसी  मूलभूत समस्या अभी भी बरकरार है। अधिकांश सडक़ों की स्थिति जीर्ण-शीर्ण अवस्था में  है। स्वास्थ्य केन्द्रों पर पहुंचे मरीजों को उचित इलाज नहीं होता। सरकारी विद्यालयों की शिक्षा व्यवस्था चौपट है। भाजपा-राजद के बीच होने वाली सीधी टक्कर को त्रिकोणात्मक बनाने में मंटू यादव कितने सफल होते हैं यह तो चुनाव बाद ही पता चल पायेगा।

Share To:

Post A Comment: