पटना, (रिर्पोटर) : केन्द्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा है कि केन्द्र सरकार सामाजिक न्याय के प्रति पूरी तरह प्रतिबद्ध है। अनुसूचित जाति और अल्पसंख्यकों के आर्थिक उन्नयन की दिषा में सरकार सतत् प्रयत्नषील है। सन् 84 में कांग्रेसी शासनकाल में सिखों के साथ जो हुआ उसे याद कर आज भी सिख समाज सिहर उठता है।
    श्री प्रसाद आज अपने जनसंवाद कार्यक्रम के तहत दीघा विधानसभा क्षेत्रान्तर्गत यारपुर अम्बेदनगर में डॉ॰ भीमराव अम्बेदकर की मूर्त्ति पर माल्यार्पण के पश्चात् बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि नई पीढ़ी को बाबा साहब अम्बेदकर से जोड़ने के लिए दिल्ली अम्बेदकर अंतरराष्ट्रीय केन्द्र की स्थापना की गयी है। गत वर्ष अप्रैल में प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी ने दिल्ली से अलीपुर रोड में महापरिनिर्वाण भूमि स्थल का उद्घाटन किया है। वास्तुकला से सुसज्जित इस भवन में डॉ॰ अम्बेदकर के जीवन और उनके कार्यों को प्रदर्षित किया गया है। यही नहीं प्रधानमंत्री श्री मोदी ने अनुसूचित जाति जनजाति  अधिनियम में संषोधन कर इस वर्ग के अधिकारों को मजबूत किया है। अपने 5 वर्षों के शासन में कांग्रेस ने इस वर्ग को सिर्फ छलने का काम किया।
    श्री प्रसाद ने चितकोहरा पंजाबी कॉलोनी में सिख समुदाय के लोगों को सम्बोेधित करते हुए कहा कि सन् 84 हादसे के षिकार लोगों के परिजनों को मोदी सरकार ने यथोचित राषि दी है। जिन कांग्रेसियों ने इस दंगे को अंजाम दिया आज वे युवराज राहुल गांधी के इर्द-गिर्द मंडराते देखे जाते हैं। यह समाज इस चुनाव में कांग्रेसियों को कभी माफ नहीं करेगा। बाद में श्री प्रसाद ने साधनापुरी में साईं दरबार कम्युनिटी हॉल और अनिसाबाद पुलिस कॉलोनी पार्क में एन.डी.ए कार्यकर्त्ताओं की बैठक को संबोधित करते हुए महागठबंधन की कड़ी आलोचना की।

Share To:

Post A Comment: