दानापुर, (रिर्पोटर) : राजद सुप्रीमो लालू यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप का अपनी ही पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं के खिलाफ जाना अब आम होता जा रहा है। तेज प्रताप कब राजद नेताओं के खिलाफ बोलने लगेंगे ये किसी को नही पता।
मौका था दानापुर के हाथीखाना मोड़ स्थित राजद कार्यालय के उद्घाटन का। इस कार्यालय का उद्घाटन करने तेजप्रताप अपनी मा. पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के साथ पहुंचे थे। पर कार्यालय में लगे बैनर पर अपना नाम और तस्वीर न देखकर वो भडक़ गए और स्थानीय कार्यकर्ताओं से उलझते हुए उन्हें भला बुरा कहने लगे। तेजप्रताप ने स्थानीय नेताओं पर ये तक आरोप लगा दिया कि वो लोग लालू परिवार को तोडऩा चाहते है। बैनर पर अपनी तस्वीर न देखकर तेजप्रताप इतने भडक़े हुए थे कि अपनी मां के सामने ही कार्यकर्ताओं के साथ धक्कामुक्की करने लगे। तेजप्रताप यही पर नही रुके जैसे ही उनकी नजर खबर बनाते मीडिया कर्मियों पर पड़ी वो मीडिया कर्मियों से भी बदसलूकी करने लगे और कैमरा छीन लेने की धमकी देते हुए सभी का कैमरा बंद करवा दिया। बाद में राबड़ी देवी के हस्तक्षेप के बाद मामला शांत तो हो गया पर कार्यकर्ताओं का गुस्सा शांत नही हुआ उन्होंने कार्यालय के बाहर ही तेजप्रताप के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाने शुरू कर दिए। अपने खिलाफ हो रहे प्रदर्शन को देखते हुए तेजप्रताप को आधे कार्यक्रम से ही उठकर बैरंग वापस लौटना पड़ा।
हंगामा शांत होने पर पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने कहा कि अब जनता ठगने वालों को पहचान चुकी है और उनके बहकावे में नही आने वाली है। उन्होंने जनता से आह्वान किया की झूठ बोलकर गुमराह करके मोदी जी और उनके चेलों ने देश का सत्यानाश करके रख दिया। उन्होंने बेटी मिसा भारती को भारी अंतर से जित दिलाने की अपील की।

Share To:

Post A Comment: