बेतिया (रिर्पोटर), : पश्चिम चंपारण जिला के रामनगर  प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत  छवरही बंजरिया मे विजय संकल्प रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि चंपारण की  जनता ने हर बार असीम प्यार दिया यहा के लोग अन्याय व अत्याचार के खिलाफ देश को दिशा और भारत के चेतना को नई ऊर्जा दी है। बिहार व चंपारण की धरती स्वच्छता के प्रति राह दिखाई है। वही  विरोधियों पर जमकर हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस, आरजेडी व उनके साथियों द्वारा इस धरती के साथ विश्वासघात किया गया, यहां के नौजवानों के साथ धोखा किया,  बिहार के सपनों को तोड़ा गया, जिसके जवाब में यहां की जनता महामिलावटी लोगों के सामने चट्टान बनकर खड़ी है। महामिलावटी लोगों का खेल खत्म हो गया है।





कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि एक समय इस पार्टी का पूरे भारत में एकछत्र शासन था परंतु जनता ने उनके  अहंकार को चू-चूर कर दिया। आज 40 सीटे वापस लाने के लिए जी जान से कोशिश कर रहे है। इतिहास में यह पहला मौका है कि कांग्रेस  सबसे कम सीटों से चुनाव लड़ रही है। कांग्रेस व राजद जैसे दलों के पास सिर्फ नाम और दाम का विजन है, झूठ और प्रपंच की राजनीति इनके लिए वजूद बचाने का एक मात्र जरिया बन गई है। विचार व विजन से दिवालिया हो चुके महामिलावटी लोग दलित, महादलित, आदिवासी, किसान, मजदूर व नौजवान के साथ जो खेल खेलरहे हैं उसे सावधान रहने की जरूरत है। महामिलावटी लोग खुद को सेवक नहीं लोकतंत्र का महाराजा समझते है।  समाज में भेद पैदा करने के लिए आरक्षण के नाम पर झूठ फैलाने की आदत हो गई है। कांग्रेस द्वारा गुजरात के आदिवासियों को  मूर्ख बनाया गया घर बनाने के नाम पर  उनसे 100-100 रुपए की अवैध वसूली की गई। राजस्थान के लोगों को ठगने के लिए  उनसे 72 हजार रुपया उनके खाते में देने के लिए फॉर्म भरवाने का काम शुरू किया गया था परंतु वहां पकड़े गए। यह लुटेरे हैं जो 55 साल के शासन में गरीबों का खाता भी नहीं खुलवा सके। यह समाज में  जहर का बीज बोने का काम कर रहे हैं जिसे आंध्र और तेलंगाना में  अच्छी तरह से देखा जा सकता है जिसका विभाजन  कांग्रेस के कार्यकाल में हुआ।
श्री मोदी ने कहा कि चार चरण के मतदान के बाद विरोधियों को हार सताने लगा है  पहले मोदी बाद ईभीएम  और अब चुनाव आयोग को ही गालियां देना शुरू कर दिए है। सारे महामिलावटी दलों के लोग सत्ता को अपने और अपने परिवार को मेवा जुटाने का जरिया समझते हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि किसानों के लागत मूल्य का डेढ़ गुना समर्थन मूल्य देने का वादा हमने पूरा किया। 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य है जिसे हर हाल में पूरा किया जाएगा। वन रैंक वन पेंशन से फौजी के घर में 35 हजार करोड़ रुपए पहुंचाया गया बिहार के सभी किसानों के खाते में 23 मई के बाद से 6 हजार रुपया स्वता चला जाएगा। 60 साल के बाद सभी छोटे किसानो हो छोटे कामगारो  व छोटे दुकानदारों को पेंशन देने का निर्णय लिया गया है। गन्ना से बनने वाले  इथेनॉल से  पेट्रोल व डीजल निर्माण होगा जिससे  किसानों के आय बढ़ेंगे। रामायण सर्किट व पर्यटन पर भी चर्चा किये।
राजद पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बड़ी मेहनत करके लालटेन को हटाया है। घर-घर में बिजली पहुंचाई है। वो आपको फिर से लालटेन युग की ओर ले जाना चाहते हैं लेकिन नीतीश कुमार और उनकी टीम आपके घर में एलईडी बल्ब की दूधिया रोशनी पहुंचाने के लिए लगातार मेहनत कर रही है। अटल जी की सरकार ने थारू समाज को उनका हक दिया था और वर्तमान एनडीए सरकार ने गरीब परिवारों को उनका हक दिया है। हमने सामान्य वर्ग के गरीबों को 10 फीसदी आरक्षण दियाए वो भी किसी दूसरे का हक छीने बगैर। मोदी ने कहा कि हम देश की एकता के लिए काम करने वाले लोग हैं।देश हमारे लिए सर्वोपरि है। विकास के रास्ते तभी खुल पाएंगे जब सुरक्षा की गारंटी हो। पहले सभी जगहों पर धमाका होता था परंतु पिछले 5 वर्षों में इन सब पर लगाम लग गई है यह मतदाताओं के 1 वोट के बदौलत संभव हो सका है। जिन्होंने  केंद्र को  स्थिर सरकार दी हैं। आतंकवाद और नक्सलवाद को खत्म करने के लिए हमारी नीति स्पष्ट  है जिसे  दुनिया देख रही है। वहीं कांग्रेस द्वारा जारी चुनावी घोषणा पत्र को देश विरोधी बताते हुए कहा कि यह हमारे देश के सेना को कमजोर कर देंगेए जवानों के विशेष अधिकार को खत्म कर देशद्रोह का कानून खत्म हो जाने से आतंकवादी और पत्थरबाज आजाद हो जाएंगे।
मौके पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान, पश्चिम चंपारण लोकसभा क्षेत्र के सांसद प्रत्याशी डा. संजय जयसवाल, बाल्मीकि नगर लोकसभा सभा क्षेत्र से सांसद प्रत्याशी बैजनाथ प्रसाद महतो, रामनगर विधायिका भागीरथी देवी, चनपटिया विधायक प्रकाश राय, सिकटा मैनाटाड  के पूर्व विधायक दिलीप बर्मा सहित कई गणमान्य लोग उपस्थित थे।

Share To:

Post A Comment: