पटना, (रिर्पोटर) : उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि राजीव गांधी की सरकार न केवल भ्रष्टाचारी थी, बल्कि सिख नरसंहार और भागलपुर दंगे के कारण वह देश की सबसे ज्यादा असहिष्णु सरकार थी। पूर्व प्रधानमंत्री ने खुद स्वीकार किया था कि जनता के पास एक रुपये में सिर्फ 15 पैसे पहुंचते थे। मिस्टर क्लीन के दामन पर हिंसा और घोटाले के दाग थे। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि बोफोर्स तोप घोटाले और क्वात्रोच्चि को मिली करोड़ों रुपये की दलाली के बारे में जब देश पहले ही बहुत कुछ जान चुका है, तब एक पूर्व प्रधानमंत्री के भ्रष्टाचार का जिक्र कांग्रेस को आचार संहिता का उल्लंघन क्यों लग रहा है? दूसरी तरफ राहुल गांधी राफेल विमान सौदे में कैग, फ्रांस की सरकार और सुप्रीम कोर्ट की क्लीनचिट के बावजूद गरीब-पिछड़े परिवार से आये ईमानदार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चोर बता रहे हैं।  कांग्रेस बतायें कि प्रियंका गांधी क्या चौकीदार को चोर बताने वाले नारे लगवा कर आचार संहिता का पालन कर रही हैं? क्या नेहरू- गांधी-राजवंश के लिए अलग आचार संहिता लागू है?

Share To:

Post A Comment: