पटना, (रिर्पोटर) : कांग्रेस और महागठबंधन पर तुष्टिकरण की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए भाजपा प्रदेश प्रवक्ता सह पूर्व विधायक राजीव रंजन ने कहा “ वोटबैंक की राजनीति करने वाले कांग्रेस और महामिलावटी गठबंधन के नेतागण देश के बहुसंख्यक हिन्दू समाज को नीचा दिखाने में कोई कसर नही छोड़ रहे हैं. बीते दिनों इनके सहयोगी सीताराम येचुरी ने तो स्पष्ट शब्दों में रामायण और महाभारत का उदहारण देते हुए पूरे हिन्दू समाज को हिंसक करार दे दिया. ध्यान देने वाली बात यह है कि येचुरी के इस निंदनीय बयान पर राजद-कांग्रेस की कोई प्रतिक्रिया नही आयी, जिससे साफ़ है कि येचुरी के इस बयान को राजद-कांग्रेस दोनों का मौन समर्थन प्राप्त है. दरअसल एक समुदाय विशेष को खुश करने के लिए राजद-कांग्रेस दोनों ही इस तरह की ओछी राजनीति को अपना भरपूर समर्थन देते रहते हैं. इनकी नीति रही है कि हिन्दुओं को जाति के नाम पर बांटो और एक दुसरे धर्म विशेष का तुष्टिकरण करते रहो. इसीलिए यह कभी ही देश के बहुसंख्यक हिन्दू समाज को अपमानित करने यहाँ तक कि उन्हें आतंकी बताने तक का कोई मौका नही छोड़ते. यह कांग्रेस ही थी, जिनके नेताओं ने भगवा आतंक का शिगूफा गढ़ा था. यह इनके नेता ही थे जिन्होंने 26/11 के मुम्बई हमले को आरएसएस की साजिश बताया था. यह तो भला हो कि उन हमलों में कसाब जिन्दा पकड़ा गया नही तो हिन्दू आतंकवाद का झूठ फ़ैलाने का इन्होने पूरी तैयारी कर रखी थी. हिन्दुओं के प्रति इनकी घृणा को देखिए कि झूठ का गुब्बारा फूट जाने के बाद भी इनके नेता बार बार भगवा आतंकवाद का शब्द इस्तेमाल करने से नही कतराते वहीँ देश और दुनिया में होने वाले हर आतंकी घटना के बाद यही लोग आतंक का कोई मजहब नही होता का राग अलापते नजर आते हैं. वास्तव में वोटबैंक की राजनीति इन दलों के रग-रग में बसी हुई है. सत्ता के सामने न तो इन्हें देश की सुरक्षा नजर आती है और न ही समाज का सद्भाव. इसीलिए इनके नेता आज कल खुलेआम हर जगह एक समुदाय विशेष से वोट की चिरौरी करते नजर आ रहे हैं. महागठबंधन यह जान लें हिन्दू समाज अपने खिलाफ की जा रही इनकी एक-एक साजिश पर निगाह रखे हुए है और इन चुनावों में इसका मुहतोड़ जवाब देगा.”


Share To:

Post A Comment: