पटना, (रिर्पोटर) : बिहार प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष डा. मदन मोहन झा ने बिहार के उपमुख्यमंत्री  सुशील कुमार मोदी के उस बयान की कड़ी आलोचना की है जिसमें उन्होंने कहा है कि आज विरोधी दल मंहगाई के मुद्दे पर इसलिये नहीं बोलते हैं,क्योंकि महंगाई पूरी तरह नियंत्रण में है।  डा. झा ने कहा कि मंहगाई के मुद्दे पर केन्द्र की भाजपा सरकार पूरी तरह विफल रही है।  यूपीए सरकार के कार्यकाल में पेट्रोल, डीजल एवं रसोई गैस की मूल्य वृद्धि पर लगातार आन्दोलन चलाने वाले भाजपा के कार्यकाल में पेट्रोल,डीजल एवं रसोई गैस की कीमत में लगातार उत्पाद शुल्क बढ़ा बड़ी मूल्य वृद्धि की है।  डा. झा ने कहा कि डा. मनमोहन सिंह के कार्यकाल में अप्रैल 2014 में पेट्रोल की कीमत 71.00 रूपये प्रति लीटर एवं डीजल की कीमत 65 रूपये प्रति लीटर थी जबकि इस समय अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में क्रूड की कीमत 100 डालर प्रति बैरेल थी।

उन्होंने कहा कि अप्रैल 2019 में अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में क्रूड की कीमत 63.89 डालर प्रति लीटर है, पेट्रोल की कीमत देश में 80 रूपये लीटर एवं डीजल की कीमत 72 रूपये लीटर है। रसोई गैस की कीमत अप्रैल,2014 में 400 रूपये प्रति सिलेन्डर (14.2 के.जी) था, आज यह बढक़र 805 रूपये प्रति सिलेन्डर हो गया है।  डा. झा ने कहा कि भाजपा के (2014-19) के कार्यकाल में कालाधन तो वापस नहीें आया लेकिन विश्व बैंक से सबसे अधिक कर्ज लिया गया है और पिछले यू.पी.ए. सरकार की तुलना में हर भारतीय पर 25251 रूपये का कर्ज बढ़ गया है।  डा. झा ने कहा कि मंहगाई एवं आर्थिक नीति पर भी भाजपा सरकार विफल रही है।


Share To:

Post A Comment: