विश्‍व पर्यावरण दिवस के अवसर पर बुधवार 05 जून को 9वीं वाहिनी राष्ट्रीय आपदा मोचन बल  के बचावकर्मी एक अलग ही जोश और जुनून में नजर आए। आमतौर पर आपदा के दौरान राहत व बचाव में जुटे रहने वाले 9वी वाहिनी एन०डी०आर०एफ० के बचावकर्मी श्री विजय सिन्हा, कमान्डेंट के कुशल मार्गदर्शन में पर्यावरण की रक्षा हेतु वृक्षारोपण कार्यक्रम में पूरे जोश एवं उत्साह के साथ भाग लिए। वृक्षारोपण कार्यक्रम के दौरान इन जांबाज बचावकर्मियों का जुनून आम जनता के लिए पर्यावरण संरक्षण के प्रति एक सार्थक संदेश भी था।

इस वृक्षारोपण कार्यक्रम को सफल बनाने में 9वीं वाहिनी एन०डी०आर०एफ० के सभी पद के कार्मिकों ने बढ़-चढ़कर उत्‍साह के साथ भाग लिया। 




विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर बुधवार को एन०डी०आर०एफ० कैम्पस बिहटा के साथ-साथ रीजनल रेस्पांस सेन्टर, गनपतगंज (सुपौल), कम्पनी तैनाती स्थल दीदारगंज (पटना) तथा रीजनल रेस्पांस सेन्टर राँची (झारखण्ड) में  एक साथ वृहद पौधारोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर स्वच्छता अभियान कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया।


इस अवसर पर विजय सिन्हा, कमान्डेंट, 9वी वाहिनी एन०डी०आर०एफ० ने कहा कि विकास की अंधी दौड़ में लोग जाने अनजाने में अपने परिवेश व पर्यावरण को नुकसान पहुंचा रहे हैं। आज निःसंदेह हम कह सकते हैं कि पर्यावरण के कुप्रबंधन के कारण स्वास्थ्य का संकट बढ़ गया है और सम्पूर्ण विश्व जलवायु परिवर्तन का दंश झेल रहा है। वर्तमान परिवेश में हम सभी को पर्यावरण की रक्षा हेतु एक सकारात्मक पहल करने की जरूरत है। पेड़-पौधें हमारे जीवन के एक महत्‍वपूर्ण कड़ी है जिसे हमें अपने आगे आने वाली पीढ़ी के भविष्‍य के लिए भी संजो कर रखना है। इस मौके पर उन्‍होंने 9वी वाहिनी एन०डी०आर०एफ० के सभी कार्मिकों को सलाह दिया कि धरती का सम्मान करना हमारा मूल उद्देश्य होना चाहिए।हम सभी को पेड़-पौधे लगाने का निरन्तर प्रयास करना चाहिए तथा इसके प्रति अपने परिवार और आम जनता को भी सदैव जागरूक करना चाहिए। धरती की हरियाली से ही हमारा वातावरण स्‍वच्‍छ रहेगा और हमारा जीवन भी सुरक्षित रहेगा।

Share To:

Post A Comment: