पटना, (रिर्पोटर) :पटना में आंदोलनकारी शिक्षकों को पुलिस द्वारा लाठीचार्ज करने पर जन अधिकार पार्टी लोकतांत्रिक के युवा परिषद के प्रदेश प्रवक्ता रजनीश कुमार तिवारी ने कहा पुलिस द्वारा कंप्यूटर शिक्षकों को बर्बरतापूर्ण दौड़ा-दौड़ा कर पीटा गया है जो निंदनीय है पार्टी इसकी निंदा करती है बिहार  सरकार तानासाही रवैया बनाई हुई है जब कोई अपनी उचित अधिकारों को सड़क पर आ सरकार से मांग करते है तो सरकार उनकी बातों को सुनने मानने के बजाय उनपर लाठी डंडे बरसाती है चाहे वह टीईटी शिक्षक ,आँगनबाड़ी सेविका हो ,आशा हो ,ममता हो रसोइया हो ,नियोजित शिक्षक हो सभी को अपनी मांगों रखने पर सिर्फ लाठी ही मिली है ताकि उनका आंदोलन  कमजोर पर जाय और वह अपनी मांग से वंचित रहें ।


श्री तिवारी ने कहा कि बिहार के 1832 शिक्षक लगातार 674 दिनों से अपनी सेवा स्थाई करने की मांग के समर्थन में प्रदर्शन कर रहे है अपनी मांग को लेकर धरना पर हैं. डेढ़ साल बाद भी कम्प्यूटर शिक्षकों की पुनर्बहाली नहीं हुई है जिससे शिक्षको में आक्रोश है जिसके कारण जब सरकार ने अंत कर दिया तो ये सभी सड़क पर उतर शांतिपूर्ण आन्दोलन के माध्यम से सरकार से अपना हक मांग रहें लेकिन सरकार को इनकी कोई फिक्र नहीं जो चिंतनीय है हर चीजो के लिए लोग सड़क पर उतरनो को बेवश है । एक और मुज्जफरपुर मामले पर मुख्यमंत्री जी की चुप्पी से पूरा देश सर्मशार है लगातार आधा दर्जन लोग इस बीमारी के शिकार हो रहें है मौते हो रहीं सरकार इसकी कोई जवाबदेही नहीं ले रही है अभी तक स्वास्थ्य मंत्री का इस्तीफा नही हुआ है राज्य सरकार के बदोलत नहीं बल्कि भगवान भरोसे चल रही है ऐसे में बिहार में राष्ट्रपति को हस्तक्षेप करना चाहिय बिहार में राष्ट्रपति साशन लगें जन अधिकार पार्टी इसकी मांग करती है राज्य सरकार का रवैया जन विरोधी है।

 

मैं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी से मांग करता हूँ इन कंप्यूटर शिक्षकों को जल्द से जल्द सेवा स्थाई करें नहीं तो जन अधिकार पार्टी आंदोलन को बेबस होगी और पार्टी एवं पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्व सांसद पप्पू यादव जी  कंप्यूटर शिक्षको की लड़ाई में उनके साथ खड़े हैं।


Share To:

Post A Comment: