पटना, (रिर्पोटर) : सूचना एवं जनसंपर्क मंत्री नीरज कुमार ने पदभार ग्रहण करने के बाद राज्य सरकार का भ्रष्टाचार और अपराध पर जीरो टॉलरेंस की नीति का जिक्र कर कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का भ्रष्टाचार एवं अपराध पर जीरो टॉलरेंस की नीति रही है। चाहे एनडीए गठबंधन की सरकार हो, महागठबंधन की सरकार रही हो। महागठबंधन की सरकार में शहाबुद्दीन एवं राजबल्लभ यादव जैसे नेताओं पर कार्रवाई किया गया। इन्हें बड़े राजनीतिक दलों से जुड़ाव होने व राज्य सरकार में संख्या बलों के अधिक होने के बावजूद भी कार्रवाई हुई। मुख्यमंत्री सरकार की चिंता नहीं करते कि सरकार का क्या होगा।
उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार पर तेजस्वी एवं लालू परिवार को 18 दिन का मौका दिया अपने पक्ष की सफाई देने का, लेकिन उन्होंने इंकार किया। गठबंधन का स्वरूप जरूर बदला, लेकिन न नेता बदलाअ ौर ही कार्यक्रम। मुख्यमंत्री के राजनीति करने की कार्यशैली भी राजनीतिक दल चुनराव में नहीं जाना चाहता था। मुख्यमंत्री अपनी बुनियादी नीति से समझौता  नहीं करते।  हमने संख्या बल लपर सरकार बनाया, सात निश्चय योजना कायम है। मजबूती से सरकार चल रही है। उन्होंने कहा कि मुझे सरकार से जो विभाग की जिम्मेवारी मिली है उसे सही तरीके से जिम्मेवारी निभाने का काम करूंगा। हमारा लक्ष्य होगा विभाग की समीक्षा कर सरकार द्वारा जारी कल्याणकारी योजना को आमजनों तक पहुंचाना।

Share To:

Post A Comment: