पटना, (रिर्पोटर) : बिहार में फैले इंसेफेलाइटिस के खतरे को दूर करने के लिए जनता दल यूनाइटेड के विधान पार्षद डा.  रणबीर नंदन ने दुख जताया है। उन्होंने कहा कि इस बीमारी का कहर जिन मासूम परिवारों पर पड़ा है, वो दर्दनाक और असहनीय है।

डा.  नंदन ने कहा कि इंसेफेलाइटिस से सिर्फ बिहार ही ग्रसित नहीं है, बल्कि भारत के अलावा थाइलैंड, जापान, म्यांमार जैसे एशियाई देशों में यह आम है। धान की पैदावार वाले इलाके में मच्छरों के होने की आशंका होती है और इसी के जरिए यह फैलता है। इसके रोकथाम के दो ही तरीके हैं। जिसमें इंसेफेलाइटिस के लिए चिन्हित इलाकों में 100 प्रतिशत वैक्सीनेशन कराया जाए। जबकि अप्रैल से अक्टूबर के बीच अगर बच्चों को बुखार हो तो बिना समय गंवाए एंटी वायरल दवाएं बच्चों को दे दी जाए।

डा.  नंदन ने कहा कि यह खतरनाक बीमारी बिना सामूहिक प्रयास के समाप्त नहीं हो सकती। इसके लिए पोलियो के स्तर का अभियान चलाना होगा। केंद्र सरकार से अपील है कि इंसेफेलाइटिस को राष्ट्रीय स्तर पर समाप्त करने के लिए व्यापक अभियान चलाया जाए, जिससे यह महामारी थम सके।

उन्होंने कहा कि मुजफ्फरपुर में अभी माननीय केंद्रीय मंत्री डा0 हर्षवर्धन जी आए हैं। उनसे अपील है कि व्यापक वैक्सीनेशन की व्यवस्था कराने के साथ एंटी वायरल मेडिसीन मुहैया कराने की दिशा में केंद्र सरकार अधिक सहयोग करे, जिससे इस पर शीघ्र काबू पाया जा सके।


Share To:

Post A Comment: