खुसरुपुर, (रिर्पोटर) : प्रेम यूथ फाउंडेशन की ओर से बिना पंडित,मौलबी,पादरी के आदर्श विवाह संपन्न हुआ । मौके पर फाउंडेशन के मुख्यस्वयसेवक दिलीप कुमार ने बताया कि मुख्यमंत्री जी के दहेज बंदी और विवाह के अवसर पर फिजूल खर्ची रोकने के लिए इस तरह का आयोजन जरूरी है,फाउंडेशन पूर्व में भी 350 जोड़ो का अंतरजातीय एवं प्रेम विवाह करा चुका है । ऐसे विवाह को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार एक लाख रुपये प्रोत्साहन राशि दे रही है । उन्होंने कहा कि तिलक दहेज और कन्यादान ये है नारी का अपमान,खरीदा हुआ जीवन साथी औरत को स्वीकार नही । आज पढ़े लिखे लोग भी दहेज लेने में अपनी शान समझते है । वहीं बिहार ए टी एस के सदस्य रखी कुमारी ने कहा कि न बेटा को बेचे न दूल्हा खरीदे ,महिलाओं को दहेज के प्रताड़ित करना या हत्या की मामला में बढ़ोतरी चिंता का विषय है । हमे बेटियों को खूब पढ़ाने की जरूरत है कि लड़का बाला चलकर आये लड़की की हाथ माँगने । उन्होंने चेतबनी भरी लहजे में कही की बिहार में दहेज लोभियो के लिए कोई जगह नही है उसे जेल जाना होगा । आदर्श विवाह में सकेन्द्र कुमार एवं नीतू कुमारी परिणय सूत्र में बंध गये । इस अनोखे शादी को देखने के लिए लोगो की हुजूम उमड़ पड़ा । इस मौके पर शुभ कामना व्यक्त करने बालो में स्वेता कुमारी,बेबी कुमारी,तुसार कुमार,शिशुपाल कुमार,अशोक कुमार ,राजीव कुमार,देवानंद शामिल है।


Share To:

Post A Comment: