पटना, (रिर्पोटर) : भाजपा के वरिष्ठ नेता पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रख्यात चिकित्सक व सांसद पद्मश्री डा. सी. पी. ठाकुर बिहार के मुजफ्फरपुर में एईएस से हो रही बच्चों की मौत पर गहरी चिंता प्रकट करते हुए कहा कि सरकार को इस बीमारी को और गम्भीरता से लेना चाहिये।

उन्होंने कहा इस बीमारी के कारणों का पता लगाना जरूरी है और भविष्य में ऐसी बीमारी न हो इसके लिए रिसर्च पर सरकार को ध्यान देना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह कोई नई बीमारी नहीं है बल्कि पिछले कई वर्षों से एक ही क्षेत्र और एक ही समय में हो रही है। 1995 से ही यह रहस्यमय बीमारी यहां बच्चों को अपना शिकार बनाती आई है। हर साल मई और जून के महीने में बिहार के विभिन्न कस्बे इस बीमारी की चपेट में आते हैं और बच्चों के मरने का सिलसिला शुरू हो जाता है। डा. ठाकुर ने कहा जब यह बीमारी आती है तब सरकार सक्रिय होती है जबकि इसके लिए सरकार को पहले ही इससे बचने के लिए तैयार रहना होना होगा। साथ ही इसपर लगातार शोध होते रहना चाहिए तभी इस बीमारी की वजह का पता चल पाएगा। डा. ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री को ख़ुद इस विषय को देखना चाहिए। इस पर उन्हें विचार करना चाहिए। इसका विश्वस्तरीय शोध कराना अतिआवश्यक है। अगर यह बीमारी लीची खाने से हो रही है तो उसकी भी उच्चस्तरीय जांच हो।



Share To:

Post A Comment: