पटना,  (रिर्पोटर) : राष्ट्रीय जनता दल के प्रदेश महासचिव भाई अरुण कुमार एवं अत्यंत प्रकोष्ठ के प्रदेश सचिव उपेंद्र चंद्रवंशी ने एक संयुक्त प्रेस बयान जारी कर कहा कि मुजफ्फरपुर में दिमागी बुखार महामारी का रूप ले रही है और अब तक करीब 60 बच्चे की मृत्यु हो चुकी है परंतु राज्य एवं केंद्र सरकार कान में तेल डालकर सोई हुई है मुजफ्फरपुर की स्थिति बहुत ही भयानक हो गई है वहां प्रत्येक साल इस समय दिमागी बुखार महामारी के रूप में बच्चों के बीच फैल जाती है और इसी प्रकार कभी डेढ़ सौ तो कभी सो बच्चों की जान जाती रहती है परंतु सरकार इस बीमारी को रोकथाम करने के लिए कोई उपाय नहीं करती है जिसके कारण देश के भविष्य का बिहार के नौनिहालों की मृत्यु हो रही है बिहार में केंद्र एवं राज्य में एक ही पार्टी की सरकार है ऐसी स्थिति में भी इस राज्य की यह दुर्गति है तो इसके लिए कौन जिम्मेवार है मुख्यमंत्री जी को बताना चाहिए इस बीमारी को रोकने के लिए ना ही केंद्र सरकार और ना ही राज सरकार कृत संकल्पित है केंद्र सरकार ने अपनी अधिकारियों की टीम भेजकर अपना इतिश्री कर ली है जबकि यहां अधिकारियों की टीम की जरूरत नहीं है बल्कि डॉक्टरों की टीम की जरूरत है केंद्र सरकार अभिलंब बच्चों के डॉक्टरों की एक स्पेशल टीम मुजफ्फरपुर भेजें और इस बीमारी के रोकथाम के लिए स्थाई उपाय करें ताकि बच्चे की मृत्यु तो रुके ही अगले साल यह बीमारी नहीं हो इसके लिए भी उपाय करें।


Share To:

Post A Comment: