पटना, (रिर्पोटर) : राष्ट्रीय जनता दल के प्रदेश महासचिव भाई अरुण कुमार एवं अत्यंत पिछड़ा प्रकोष्ठ के प्रदेश सचिव उपेंद्र चंद्रवंशी एक संयुक्त प्रेस बयान जारी कर कहा कि माननीय उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के द्वारा केंद्र सरकार से स्वास्थ्य के क्षेत्र में सुधार हेतु 100 करोड़ रुपये मांगे जाने पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि सुशील मोदी जी को मांगने की आवश्यकता क्यों पड़ गई केंद्र और राज्य में एनडीए की सरकार है आप जाइए और जितनी भी पैसे की जरूरत हो दिल्ली से ले आई ए क्योंकि आपने इसी आधार पर वोट मांगा था की डबल इंजन की सरकार रहेगी तो विकास चौगुनी रफ्तार से होगी परंतु ऐसा लगता है की मुजफ्फरपुर में मृत बच्चों के प्रति आप  संवेदनशील नहीं है क्योंकि आपने अभी तक नाही मुजफ्फरपुर का दौरा किया है और ना ही स्वास्थ्य सुविधाएं बढ़ाने के लिए कोई कार्य किया है पूरे बिहार में 14 वर्षों से आप की सरकार है और स्वास्थ्य विभाग भी भारतीय जनता पार्टी के पास ही है एवं केंद्र में भी स्वास्थ्य मंत्रालय भाजपा के जिम्मे ही है फिर भी आप पैसा मांग कर जनता की आंखों में आई वास करने का काम कर रहे हैं इससे ज्यादा कुछ नहीं भारतीय जनता पार्टी एवं सरकार अपने कु- कृतियों को छिपाने के लिए ऐसी बयान दे रहे हैं सन 2014 में भी मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से करीब 100 लोगों की जानें गई थी उस समय भी स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन जी ही थे उन्होंने उस समय मुजफ्फरपुर में घोषणा की थी की यहां 100 अतिरिक्त बेड आईसीयू सहित केंद्र सरकार लगाएगी परंतु 2019 में माननीय हर्षवर्धन जी पुनः आए और वही घोषणा कर कर चले गए इससे यह पता चलता है कि भारतीय जनता पार्टी एवं उनकी सरकार के द्वारा बिहार के लोगों के प्रति भेदभाव का रवैया रखते हैं यही कारण है कि माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी योग करने रांची आते हैं परंतु बच्चों को देखने के लिए मुजफ्फरपुर नहीं जाते हैं

इन नेताओं ने आरोप लगाया कि सुशील कुमार मोदी अफवाह और छलावा के मास्टरमाइंड है यह गुण सुशील कुमार मोदी से ही सीखा जा सकता इसमें इनको मास्टर की डिग्री प्राप्त है

 


Share To:

Post A Comment: