पटना, (रिर्पोटर) : बिहार के युवाओं को रोजगार और आजीविका के नए अवसर उपलब्ध कराने के लिए लगातार कौशल विकास की जरुरत सामने आती रही है | और इसे बिहार कौशल विकास मिशन ने बेहतर तरीके से समझते हुए राज्य के युवाओं को कुशल बनाने हेतु विभिन्न तरह के ट्रेडों में प्रशिक्षण की व्यवस्था कर रोजगार के मौके भी दिलाता रहा है |  बिहार सरकार ने दसवीं कक्षा के बाद से ही युवाओं को प्रशिक्षित करने और उन्हें कौशल विकास से जोड़ने का फैसला किया | बिहार सरकार के ‘ 7 निश्चयों में से एक – आर्थिक हल, युवाओं को बल ‘ के योजना को धरातल पर लाने का कार्य श्रम संसाधन विभाग के अंतर्गत बिहार कौशल विकास मिशन ने किया है |
श्रम संसाधन विभाग एवं बिहार कौशल विकास मिशन राज्य में सबसे बड़े स्तर पर "विश्व युवा कौशल दिवस - कौशल महोत्सव-2019" आयोजित करने जा रहा है | यह आयोजन 13 – 15 जुलाई 2019 को ज्ञान भवन, गाँधी मैदान, पटना में होगा | जिसमें बिहार के युवाओं के कौशल और नवाचारों को 38 ट्रेडों में लाइव परियोजनाओं के प्रदर्शन के माध्यम से प्रदर्शित किया जाएगा | इस महोत्सव में विज्ञान और प्रैविधिक विभाग, कृषि विभाग, इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट, हाजीपुर, राष्ट्रीय फैशन प्रौद्योगिकी संस्थान, पटना (निफ्ट), टूल रूम और प्रशिक्षण केंद्र (टीआरटीसी), औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान – आईटीआई, केंद्रीय प्लास्टिक इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी संस्थान (सीपेट), राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआईईएलआईटी) भी शामिल हैं जिनके छात्र इस कार्निवल में अपनी भागीदारी करेंगे | कौशल प्रतियोगिता में राज्य से लगभग 318 प्रतिभागी भाग लेंगे | साथ ही सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रतियोगिता के तहत विभिन्न स्कूलों के छात्र एवं छात्राएं  ग्रुप डांस, सोलो डांस, ग्रुप सिंगिंग, सोलो सिंगिंग, स्किट कॉम्पिटिशन और वन एक्ट प्ले जैसी 6 श्रेणियों में अपना प्रदर्शन भी करेंगे | सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रतियोगिता में 38 स्कूल और लगभग 700 विद्यार्थी हिस्सा ले रहे हैं | पटना के कई स्कूल यहाँ लाइव प्रोजेक्ट भी प्रस्तुत करेंगे  जैसे - रेनवाटर हार्वेस्टिंग, एलिवेटेड मेट्रो ट्रेन इन पटना इत्यादि | साथ ही प्रेरक वक्ताओं के रूप में बॉलीवुड के प्रख्यात अभिनेता आशीष विद्यार्थी एवं प्रसिद्ध उपन्यासकार चेतन भगत क्रमशः 13-14 जुलाई को छात्रों और युवाओं के बीच प्रेरणादायी बातें करेंगे |
कौशल और सांस्कृतिक प्रतियोगिता के तहत विभिन्न कार्यक्रमों में भाग लेने वाले शीर्ष तीन उम्मीदवारों को समापन समारोह यानी 15 जुलाई 2019 को पुरस्कार और प्रमाण पत्र दिए जाएंगे। जिसमें सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रतियोगिता के ग्रुप कम्पटीशन में पहला पुरस्कार 5 हज़ार, दूसरा 3 हज़ार, और तीसरा 2 हज़ार होगा , वहीं सोलो कम्पटीशन में पहला पुरस्कार ३ हज़ार, दूसरा 2 हज़ार और तीसरा 1 हज़ार होगा | तथा कौशल प्रतियोगिता में पहला पुरस्कार 3 हज़ार, दूसरा 2 हज़ार और तीसरा 1 हज़ार होगा |
बिहार कौशल विकास मिशन (BSDM), बिहार में कौशल विकास के लिए एक बुनियादी निकाय है, जो राज्य की प्रतिभाओं को पहचानने और सकारात्मक कौशल को चित्रित करने के लिए 2016 से प्रत्येक वर्ष 15 जुलाई को “विश्व युवा कौशल दिवस” का आयोजन कर रहा है।
इस अवसर पर श्रम संसाधन मंत्री  विजय कुमार सिन्हा ने कहा कि – “ युवाओं को आगे बढ़ाने और उनके भविष्य को सँवारने का माध्यम कौशल विकास ही है | भारत में विश्व की सबसे बड़ी युवा आबादी रहती है , यदि इन युवाओं को कौशल विकास से जोड़ा जाए तो हमारा देश कुशलता और आर्थिक क्षेत्र में एक बेहतरीन स्थान प्राप्त कर सकता है | बिहार कौशल विकास मिशन अपने कई कार्यक्रमों द्वारा राज्य के युवाओं को प्रशिक्षण का कार्य कर रहा है | १३ – 15 जुलाई को  विश्व युवा कौशल दिवस के अवसर पर एक कौशल महोत्सव का आयोजन भी करने जा रहा है  | इसमें राज्य भर के युवा विभिन्न ट्रेड में प्रतियोगिता के माध्यम से अपने हुनर का प्रदर्शन करेंगे |”  कार्यक्रम का विधिवत उद्घाटन दिनांक 13 जुलाई 2019 को किया जायेगा |
बीएसडीएम ने कई प्रतिष्ठित राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय संस्थानों के मार्गदर्शन में कार्पोरेट जगत की आवश्यकतों और मांगों को ध्यान में रखते हुए ‘रिक्रूट ट्रेन एंड डिप्लॉय’ (आरटीडी) प्रोग्राम की शुरुआत कर एक बेहतरीन योजना को कार्यान्वयित किया |
बिहार कौशल विकास मिशन के मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी एवं श्रम संसाधन विभाग के प्रधान सचिव ने एक प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि - “ 13 से 15 जुलाई तक बिहार कौशल विकास मिशन (BSDM), विश्व युवा कौशल दिवस (WYSD) के अवसर पर युवा कौशल विकास के महत्व के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए वैश्विक समारोह में शामिल होगा | इस विशेष अवसर पर बिहार कौशल विकास मिशन (BSDM) द्वारा एक कौशल महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है | तीन दिनों तक चलने वाले इस आयोजन में बिहार के युवाओं द्वारा कई ट्रेडों में लाइव प्रोजेक्ट के प्रदर्शन के माध्यम से अपने कौशल और नवाचारों को दिखाने का मौका मिलेगा | इस कार्यक्रम का उद्देश्य युवाओं के कौशल में सुधार लाते हुए उनके कौशल को आगे बढ़ाना है |”
इस महोत्सव में कृषि विभाग द्वारा प्रार्शनी का आयोजन भी रहेगा एवं पारम्परिक कला से सम्बंधित प्रदर्शनी भी लगायी जाएगी जिसमें – टिकुली आर्ट्स , मिथिला पेंटिंग, मंजूषा पेंटिंग, सुजनी वर्क, थ्रीड ज्वेलरी, जूट, अपलीके, गोदना इत्यादि शामिल होगा |
इस कौशल महोत्सव  का उद्देश्य युवाओं के कौशल में सुधार लाते हुए उनके कौशल को आगे बढ़ाना है | और आज के सबसे चुनौतीपूर्ण वैश्विक मुद्दों के समाधान में कुशल युवाओं के महत्वपूर्ण भूमिका को बताना भी है | जब युवा कुशल होंगे और रोजगार के दृष्टिकोण से अपने पैरों पर खड़े होकर अपना भविष्य उज्ज्वल बनायेंगे तभी सही अर्थों में राज्य का विकास होगा |

Share To:

Post A Comment: