पटना, (रिर्पोटर) : भाकपा-माले राज्य सचिव कुणाल ने कहा है कि आगामी 4 जुलाई को पटना के भारतीय नृत्य कला मंदिर में एक दिवसीय कार्यकर्ता कन्वेंशन का आयोजन किया जा रहा है. कन्वेंशन में माले महासचिव काॅ. दीपंकर भट्टाचार्य सहित वरिष्ठ नेतागण तथा पूरे राज्य से तकरीबन 500 की संख्या में महत्वपूर्ण कार्यकर्ता जुटेंगे. यह कन्वेंशन ऐसे समय में हो रहा है जब केंद्र की सत्ता में भारी बहुमत से भाजपा दुबारा लौटकर आई है. दुबारा सत्ता में आने के बाद हम देख रहे हैं कि सरकार बड़े पैमाने पर निजीकरण व मजदूरों के अधिकारों पर बड़े हमले के साथ संविधान, लोकतंत्र और संघवाद के खिलाफ बड़े कदम उठा रही है.

 भोजन, पानी, शिक्षा और स्वास्थ्य जैसी  बुनियादी सुविधाओं पर भी हमले हो रहे हैं. साथ ही दलितों, आदिवासियों और महिलाओं के अधिकारों और जीवन पर हमला है. निजीकरण को बढ़ावा देने वाली नई शिक्षा नीति 2019 का मसौदा जारी कर दिया गया है. देश के विभिन्न इलाकों में एक बार फिर से माॅब लिंचिंग की घटनाओं को बेखौफ होकर अंजाम दिया जा रहा है. वहीं, बिहार में भाजपा-जदयू शासन में आज हत्या, लूट, अपराध, महिलाओं पर यौन हिंसा, बच्चियों से गैंगरेप की घटनायें अपने चरम पर है. चमकी बुखार व लू से सैंकड़ों लोगों की मौत हो चुकी है और बिहार सरकार का प्रबंधन पूरी तरह फेल हो चुका है.  भाजपा-आरएसएस के इस हमले से निपटने में क्रांतिकारी कम्युनिस्टों की बड़ी भूमिका है. वामपंथ की संपूर्ण कतारों को आरएसएस-भाजपा के इसी फासीवादी हमले का दृढ़तापूर्वक प्रतिरोध करना होगा. इसी परिप्रेक्ष्य में ’लोकसभा चुनाव, वर्तमान राजनीतिक परिस्थिति, चुनौतियां व कार्यभार’ विषय पर यह राज्य स्तरीय कार्यकर्ता कन्वेंशन आयोजित हो रहा है.


Share To:

Post A Comment: