पटना, (रिर्पोटर) : राष्ट्रीय जनसंभावना पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष  उपेन्द्र सहनी के नेतृत्व में विश्व मछुआरा दिवस कार्यालय में मनाया गया।
इस मौके पर श्री सहनी ने कहा कि मछुआरों के कल्याण हेतु बंद पड़े योजना को चालू करने एवं गृह विहीन मछुआरों को मकान बनाने हेतु पूर्ण अनुदान देने, मनोनित पदों पर उचित भागीदारी देने, मछुआरों के विभिन्न उपजातियों मल्लाह, बिन्द, गोढ़ी, बनपर, सुरहिया, बेलदार, नोनिया, केवट, चाई, तियर, इत्यादि को एक जाति निषाद के तहत दर्शाया जाय एवं निषाद जाति को अनुसूचित जाति का दर्जा दिया जाय। 15 जून से 15 अगस्त तक शिकारमाही पर लगे रोक से बेरोजगार हुए मछुआरों को 45 हजार रूपये मुआवजा दिया जाय। केन्द्र एवं राज्य प्रायोजित योजनाओं को शीघ्र लागू किया जाय। ऐसा नहीं करने पर श्री सहनी ने केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकार के विरूद्ध में हल्ला बोल रैली का आयोजन पूरे देश में करेगी। पार्टी के संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष राजीव कुमार ने इस मौके पर कहा कि मल्लाह जाति आर्थिक, शैक्षणिक एवं राजनैतिक रूप से काफी पिछड़ा हुआ है, इस पर केन्द्र एवं राज्य सरकार को विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अशोक सिंह निषाद ने कहा कि मछुआरों को तालाब खुदाने में शत-प्रतिशत अनुदान देने की आवश्यकता है। साथ ही पार्टी के पटना जिला अध्यक्ष  राम सेवक बिन्द ने कहा कि मल्लाह समाज को मछुआरा क्रेडिट कार्ड बैंकों को जल्द से जल्द उपलब्ध कराने में राज्य सरकार को मदद करना चाहिए। गृह विहीन मछुआरों को 5 डिसिमल जमीन उपलब्ध कराने की आवश्यकता है तथा राज्य मछुआरा आयोग का गठन जल्द से जल्द होने की जरूरत है। बिहार के सभी जिलों में निषाद गोताखोरों की नियमित बहाली की जरूरत है।
इस मौके पर  रामचन्द्र बिन्द, गंगा केवट, राम चन्द्र केवट, अमृत प्रेम, पुष्पा देवी कुशवाहा, सुजीत यादव, अर्जुन प्रजापति, लक्ष्मी पाण्डेय, बिन्दु सहनी, रामजी पासवान, राम छपित निषाद, फैयाज आलम, विमल कान्त झा, चन्दन साफी, अशोक यादव,अमरनाथ कुमार,बिजेन्द्र राम,रमेश तिवारी,कैलाश सहनी,प्रेमनाथ मालाकार,सुसमा देवी,अखिलेश सिंह,रवि यादव एंव अन्य उपिस्थत थे।  

Share To:

Post A Comment: