पटना, (रिर्पोटर) : राष्ट्रीय जनता दल के प्रदेश महासचिव भाई अरुण कुमार एवं अत्यंत पिछड़ा प्रकोष्ठ के प्रदेश सचिव उपेंद्र चंद्रवंशी में एक संयुक्त प्रेस बयान जारी कर केंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह के द्वारा बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री पूर्व रेल मंत्री एवं राष्ट्रीय जनता दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री लालू प्रसाद को केंद्र के द्वारा दी हुई सुरक्षा व्यवस्था वह वापस लिए जाने पर तीव्र प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि उनका सुरक्षा व्यवस्था वापस लिया जाना भाजपा सरकार की एक सोची समझी साजिश के तहत है भारतीय जनता पार्टी के लोग जिस व्यक्ति से पार नहीं पाता उस व्यक्ति के ऊपर झूठा मुकदमा डालकर उसे जेल में डालने का काम करती है तथा उसकी हत्या तक करवा देती है जब यह लोग देश के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को नहीं बक्शे तो लालू प्रसाद जी को कैसे बकस देंगे लालू प्रसाद जी जिस जगह इलाज करवा रहे हैं वहां झारखंड सरकार के पुलिस इनकी सुरक्षा में है जिस पर विश्वसनीयता नहीं के बराबर है लालू प्रसाद जी सामाजिक न्याय के योद्धा रहे हैं वे हमेशा सांप्रदायिक शक्तियों के निशाने पर रहे हैं क्योंकि वे धर्मनिरपेक्षता के लिए काम करते रहे वे गरीबों की बात करते हैं वह आरक्षण की बात करते हैं ऐसी स्थिति में उनके दुश्मन हजारों की संख्या में हाय और घात लगाकर बैठे हुए ऐसी स्थिति में केंद्र सरकार के द्वारा सुरक्षा वापस लिए जाने से उनकी जान पर खतरा बन आई है

इन नेताओं ने देश के राष्ट्रपति से यह मांग की है लालू प्रसाद की जो सुरक्षा वापस ली गई है उनकी सुरक्षा व्यवस्था को पुना बहाल किया जाए नहीं तो कोई अनहोनी घटना अगर घटती है तो इसका सारा जवाबदेही अमित शाह एवं नरेंद्र मोदी पर होगी


Share To:

Post A Comment: