पटना, (राकेश कुमार) :  लोक जनशक्ति पार्टी सेक्यूलर ने अपने पूर्व निर्धरित कार्यक्रम के अनुसार बिहार के सभी जिलों में कार्यकत्र्ता सम्मान समारोह का आयोजन किया। इसी कार्यक्रम के तहत पटना के बीआईए हॉल में कार्यकत्र्ता सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता पार्टी के मुख्य प्रवक्ता विष्णु पासवान ने किया। संचालन पार्टी के वरिष्ठ नेता और पटना जिला के प्रभारी ललन पासवान ने किया।  समारोह में 40 वार्डो के प्रभारी और वार्ड अध्यक्षों ने भाग लिया। सभी वार्ड के पदाधिकारियों को अंग वस्त्र देकर सम्मानित किया गया। समारोह का उद्घाटन पार्टी के संस्थापक डॉ. सत्यानन्द शर्मा ने किया। डॉ. शर्मा ने अपने उद्घाटन भाषण में कार्यकत्र्ताओं को पार्टी का मूल मालिक बताते हुए कहा कि लोजपा सेक्यूलर में कार्यकत्र्ता भिखारी नहीं, मालिक रहेंगे। पार्टी का सभी निर्णय कार्यकत्र्ता अपने वार्ड, मुहल्ला और गांवों में बैठकर लेंगे। पार्टी की नीति अधेगामी होगा, उर्वगामी नहीं। पार्टी किसी का जागीर नहीं होगा। हम सब पार्टी के कार्यकत्र्ता हैं। हम सबों को संगठन से सरकार तक की दूरी तय करना है। पार्टी को बचाने और चलाने की जिम्मेवारी हम सबों पर है। लोजपा सेक्यूलर कभी टिकट बेचवा पार्टी नहीं बनेगी। 22 जुलाई से पार्टी का सदस्यता अभियान शुरू होगा, 25 लाख सदस्य बनाना है, जो सदस्य बनेगा वह एक पौध लगायेगा, ताकि देश प्रदेश को प्राकृतिक प्रकोप से बचा सके।

       समारोह को संबोधित करते हुए रामभरोस शर्मा ने कहा कि देश आजाद हुआ था तो समता मूलक समाज की स्थापना की कल्पना की गई थी। देश में समाजवाद के बात करने वाले कुछ नेता परिवार की कम्पनी पार्टी बना लिया। जरूरत है, बिहार में नई राजनीति की शुरूआत करने का। अतिपिछड़ों की आबादी सबसे ज्यादा तो मुख्यमंत्री इसका क्यों नहीं।

        मुख्य अतिथि पद से बोलते हुए राज्य के पूर्व पुलिस महानिदेशक  अशोक कुमार गुप्ता ने कहा कि आज भी गांवों के लोग त्रस्त है। सरकारी योजनाओं में लूट मची है। अतिपिछड़ा, पिछड़ा, अनुसूचित जाति/जनजाति के लोग अधिकारों से वंचित है। लोकतंत्र का मखौल बनाकर रख दिया गया। पार्टी को बढ़ाने का कार्य हो, हम लोजपा सेक्यूलर के साथ है।

        समारोह को युवा लोजपा सेक्यूलर के वरिष्ठ नेता अनिल कुमार पासवान, प्रदेश अध्यक्ष आशीष कुशवाहा, पार्टी नेता आनन्द शंकर, उमेश शर्मा, राज कुमार पासवान, उमेश शर्मा, धर्मवीर पंडित, कामता प्रसाद, चन्द्रवंशी रामचन्द्र, रवीदास, रमेश मुशहर, पटना जिलाध्यक्ष नन्द किशोर यादव, प्रो. बेनी माधव, पप्पु शर्मा, पृथ्वी राम शर्मा, सचिन कुमार, परमानन्द शर्मा, रविस कुमार, बब्लू शर्मा, गजेन्द्र शर्मा, रीता कुशवाहा, अमित पासवान सहित अनेकों वक्ताओं ने अपना विचार व्यक्त किया।

       


Share To:

Post A Comment: