रांची , (रिर्पोटर) :  भाजपा नेता अजय राय ने कहा है कि जम्मू-कश्मीर से धारा-370 और 35 ए हटाने का मोदी सरकार का निर्णय ऐतिहासिक है। यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दृढ़ इच्छाशक्ति का परिचायक है। मोदी सरकार इसके प्रति कृतसंकल्प थी। उन्होंने कहा कि श्यामा प्रसाद मुखर्जी और पं दीनदयाल उपाध्याय के सपनों को मोदी सरकार ने साकार कर दिखाया। उन दोनों महापुरुषों ने भारत की एकता और अखंडता के लिए बलिदान दिया था। इसके ले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह बधाई के पात्र हैं। उन्होंने कहा कि यह भारतवासियों के लिए सौभाग्य की बात है। अब कश्मीरी पंडितों के पुनर्वास का रास्ता साफ हो गया है।

उन्होंने कहा की  डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की अध्यक्षता में 'जनसंघ' के पहले राष्ट्रीय अधिवेशन में पंडित दीनदयाल उपाध्याय ने पहला वैचारिक दस्तावेज "जनसंघ के त्रिमुखी सिद्धान्त" को प्रस्तुत करते हुए कहा था..."हमारे लिए भारत की एकता एवं अखंडता केवल मात्र 'विचार' नही है, बल्कि 'विचार पूर्वक' लिया गया 'संकल्प' है"..... जम्मू-कश्मीर से धारा 370 एवं 35A हटाने का निर्णय लेना, उपरोक्त 'संकल्प' रूपी स्वप्न को पूरा करने की दिशा में उठाया गया एक निर्णायक कदम है.....राष्ट्र पुरुष नरेंद्र भाई मोदी, एवं लौह पुरुष श्री अमित शाह जी के नेतृत्व को सादर नमन....!!! हमारा सौभाग्य है, कि हम अपनी आंखों से डॉ.मुखर्जी के स्वप्न को पुरा होते देख रहे हैं....!!! "एक देश, एक विधान, एक प्रधान, एक निशान , श्री राय ने कहा की सरकार के इस कदम से विपक्ष को सीख लेने की जरुरत है और समझने की की 56 इंच का सीना क्या होता है  प्रधानमन्त्री  नरेंद्र मोदी ने यह कदम उठा कर के  दिखला दिया है।


Share To:

Post A Comment: