पटना, (रिर्पोटर) : फेडरेशन ऑफ सेल्फ फिनांस्ड टेक्नीकल इंस्टीच्यूषन (एफएसएफटीआई) के प्रेसीडेन्ट डा. अंशुु कटारिया ने आज पटना में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए बिहार के युवाओं के भविष्य के हित में स्टुडेन्ट क्रेडिट कार्ड स्कीम में मुख्यमंत्री  नीतीश कुमार से 5 जुलाई एवं 16 जुलाई को जारी नोटिफिकेशन की समीक्षा करने का आग्रह किया है।  

डा. अंशुु कटारिया ने कहा कि प्रदेश के 75000 छात्र छात्राओं को शिक्षित करने की मुख्यमंत्री  नीतीश कुमार की  पहल  स्वागतयोग्य है पर 5 एवं 16 जुलाई को जारी नोटिफिकेशन में यह स्पष्ट है कि क्रेडिट कार्ड स्कीम का लाभ सिर्फ एनएएसी (नैक) ग्रेड ए, एनबीए एक्रेडिटेड और एनआइआरएफ रैंक्ड इंस्टीच्यूशन को ही मिलेगा। इससे इतर बाकी बचे संस्थानों की राशि रोक लेने से  इंस्टीच्यूशन के साथ साथ वैसे मौजूदा छात्र प्रभावित हुए हैं  जो बिहार से बाहर पढ़ रहे हैं। श्री कटारिया ने आगे कहा कि यह राशि स्कॉलरशिप नहीं है बल्कि एजुकेशन लोन है जो कि छात्रों के द्वारा सरकार को पढ़ाई पूरी होने या जॉब पा लेने के बाद छात्रों को लौटाना होता है। जब यह एजुकेशन लोन है तब योग्य छात्रों को अपनी पसन्द का इंस्टीच्यूशन चुनने का अधिकार क्यों नहीं मिले? पंजाब एनएडेड कॉलेजेज एसोसियेशन (पीयूसीए) के ज्वाइंट सेक्रेटरी गुरूकीरत सिंह ने कहा कि सिर्फ इस स्कीम के कारण राज्य से बाहर के कॉलेज ने बिहार के छात्रों का एडमिशन लिया है। कुछ छात्रों की राशि आवंटित कर दी गई है जबकि कुछ का आवेदन प्रक्रिया में है। एडमिशन सेशन के दौरान इस तरह के नोटिफिकेशन से पूरा षिक्षा जगत भौंचक है।

कटारिया ने आगे प्रश्न करते हुए कहा कि जब ऑल इंडिया कांउसिल फार टेक्निकल एजुकेशन (एआईसीटीई) नई दिल्ली ने एनबीए/एनएएसी क्रेडिशन पाने के लिए वर्ष 2022 का समय दिया है तो इस समय सीमा से पहले बिहार सरकार इस तरह का प्रावधान कैसे लागू कर सकती है?

गुरूकीरत सिंह ने कहा कि देश में बहुत कम कॉलेज और यूनिवर्सिटी हैं जिन्हें एनएएसी (नैक) ग्रेड ए, एनबीए एक्रेडिटेड और एनआइआरएफ रैंक प्राप्त है। जिस संस्थान को यह ग्रेड प्राप्त है वहा इतनी अधिक न सीटें हैं और न फी स्ट्रक्चर या एलिजीबिलिटी  में कोई समानता है।

संवाददाता सम्मेलन में आनंद कॉलेज आफ  इंजीनियरिंग एंड मैनेजमेंट कपूरथला, रामदेवी जिंदल कॉलेज लालरू, सत्यम कॉलेज नकोदर, जय पॉलीटेक्निक हरियाणा, देश भगत कॉलेज मोगा, गुलजार गु्रप आफ कॉलेजेज लुधियाना, स्वामी देवी दयाल गु्रप अम्बाला, ग्लोबल इंस्टीच्यूट अमृतसर, हिमालयन इंस्टीच्यूट, कालाअम्ब हिमाचल प्रदेश, बाबा फरीद कॉलेज भटिंडा, आर्यन्स ग्रुप आफ कालेजेज नियर चंडीगड़, जीटीबी मलाउत, भाई गुरूदास इंस्टीव्यूट संगरूर, स्वामी परमानंद कॉलेज लालरू, एसभीआईईटी बानुर, गुरूनानक इंस्टीव्यूट मुल्लाना, नॉर्दर्न इंस्टीच्यूूट आफ इंजीनियरिंग कॉलेज  अलवर राजस्थान, ज्ञान गंगा पॉलीटेक्निक कुरूक्षेत्र, यूनिवर्सल गु्रप लालरू , एकलॉन इंस्टीच्यूट आफ टेक्नोलॉजी फरीदाबाद, पंजाब कॉलेज आफ इंजीनियरिंग लाल एवं यमुना गु्रप ऑफ  कॉलेजेज यमुनानगर के प्रतिनिधि  प्रेस कांप्रेस में उपस्थित थे।     


Share To:

Post A Comment: