पटना, (रिर्पोटर) : अपना किसान पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जयलाल प्रसाद सिंह कुशवाहा ने कहा कि आजादी के 72 वर्षों बाद भी किसानों की हालत नहीं सुधरी है। विभिन्न पार्टियों की सरकार बनी, लेकिन किसानो के लिए कोई कानून नहीं बना। देश में किसानी जीवन जीने वालों की संख्या 70 प्रतिशत है। अकेले यही एक वर्ग है जो आत्महत्या करने को विवश हैं। उन्होंने कहा कि वर्ष 1967 में देश में उद्योग नीति बनी। भारत कृषि प्रधान देश होते हुए भी यहां कृषि नहीं बना। पार्टी का उद्देश्य है किसानों को सत्ता में भागीदारी बनाना, जब तक किसान संसद नहीं पहुंचते हैं किसानों की समस्या हल नहीं होने वाला है। प्रदेश के किसान सितम्बर माह में बाढ़ पीडि़तों की सहायतार्थ हेतु भिक्षाटन कर राशि जमाकर मुख्यमंत्री सहायता कोष में जमा करेगा।
प्रेसवार्ता में प्रदेश कार्यवाहक अध्यक्ष बीपी सिंह, आईटी अध्यक्ष पंकज कुमार राय, सांस्कृतिक प्रकोष्ठ अध्यक्ष शशिभूषण श्रीवास्तव, पटना जिला संयोजक विजय दास, उपाध्यक्ष लाल बिहारी, महिला प्रकोष्ठ अध्यक्ष पूनम  श्रीवास्तव, संजय कुमार सहनी, शिव कुमार ङ्क्षसह समेत अन्य  उपस्थित थे।

Share To:

Post A Comment: