पटना, (रिर्पोटर) : आम आदमी पार्टी बिहार के प्रदेश उपाध्यक्ष मनोज कुमार के नेतृत्व में बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय से मुलाकात की।  मनोज कुमार ने बताया कि बलात्कार की शिकार नबालिग पीड़िता एवं उनके माँ बाप से पीएमसीएच में मुलाकात किया था। उन्होंने बताया कि पीड़िता की माँ ने रोते बिलखते हुए अपने 17 वर्षीय बेटे को बचा लेने की गुहार लगाई थी। इसी संदर्भ में आम आदमी पार्टी की एक शिष्टमंडल ने बिहार के पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय से मुलाकात कर पीड़िता के परिवार को अबिलम्ब सुरक्षा देने की मांग किया। प्रदेश मीडिया प्रभारी बबलू कुमार प्रकाश ने बताया कि बलात्कार का आरोपी ध्यानी शर्मा जो कि आइ.टी.बी.पी का जवान है, वह अपराधी प्रवृत्ति का नौजवान है।  छपरा में उसका पूरे परिवार की गिनती दबंग व अपराधी पृष्ठभूमि वाले परिवारों में होती है।  उन्होंने बताया कि पीड़ितों को पीएमसीएच के महिला वार्ड में बगैर पुलिस सुरक्षा के रखा जाना भी हास्यपद है। कोई भी अनजान व्यक्ति बिना रोक-टोक के उनसे मिलकर उनको धमका सकता है, या उनकी हत्या कर सकता है । ऐसे में आम आदमी पार्टी बिहार के प्रदेश सचिव ई उमा शंकर, प्रदेश कार्यालय सचिव कृष्ण मुरारी गुप्ता, अरविंद कुमार, कुम्हरार विधानसभा अध्यक्ष सुयश कुमार ज्योति, व्यवसाय प्रकोष्ठ के सुनील अग्रवाल, साधु शरण चौधरी, सौरभ शर्मा, प्रदेश उपाध्यक्ष मनोज कुमार, मीडिया प्रभारी बबलू प्रकाश ने पटेल भवन, पुलिस मुख्यालय जाकर पुलिस महानिदेशक से मिलकर निम्नलिखित मांग रखी।

1)  बलात्कार के FIR रिपोर्ट की समीक्षा करें, थाना प्रभारी पर पीड़िता के परिवार को भरोसा नहीं है।

2) नाबालिग से बलात्कार के लिए पॉक्सो एक्ट की धाराएं बलात्कारियों पर लगाकर फांसी की सजा तय करवाई जाए।

3) पीड़िता के परिवार को पैसे का प्रलोभन देकर मुकदमा नहीं लड़ने/वापस लेने का दबाव डालने वाले पुलिसकर्मी की शिनाख्त कर उसे निलंबित किया जाए।

4) तत्काल प्रभाव से आदेश जारी कर पीड़ित एवं उसके परिवार को सुरक्षा दिया जाए, ताकि उन्नाव जैसी घटना की पुनरावृत्ति छपरा में ना हो। पीड़िता की मां बाप भयक्रांत है, क्योंकि बलात्कारी दबंग परिवार से अपराधिक पृष्ठभूमि वाले रसूखदार लोग है।

5) छपरा की वार्ड संख्या 44 की महिला पार्षद को जिनके कार्यालय में बलात्कार होने की पुष्टि हो चुकी है, उनको तत्काल गिरफ्तार किया जाए।

Share To:

Post A Comment: