पटना, (राजीव नंदन त्रिपाठी) : जन अधिकार पार्टी के संरक्षक सह पूर्व सांसद  राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने कहा कि बिहार में सामाजिक एवं राजनैतिक न्याय को अमलीजामा पहनाने के लिए तीसरे मोर्चे बनाने का विचार किया जायेगा। तीसरे मोर्चे में मुख्यमंत्री के उम्मीदवार पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी होंगे। होटल समर्पण में उन्होंने पत्रकारों से वार्तालाप कर कहा कि बिहार में 30 वर्षों तक बड़े एवं छोटे भाई का शासन रहा। पहले जंगल राज था अभी माफिया राज है। दोनों सरकार में पिछड़ों एवं दलितों से केवल राजनीतिक लाभ लिया गया। दलित एवं पिछड़ा वर्ग सामाजिक आर्थिक एवं शैक्षणिक रूप से पिछड़ा है। बिहार की जो स्थिति है उसके लिए तीसरा मोर्चा की जरूरत है। इसके लिए अन्य राजनीतिक दलों से बातें हो रही है।
उन्होंने कहा कि देश में आरक्षण समाप्त किये जाने की साजिश हो रही है। जनसंख्या के आधार पर आरक्षण पद्धति लागू हानी चाहिए। एनआरसी के बहाने सरकार गरीबों की जमीन को पूंजीपतियों के हाथों देना चाहती है। कश्मीर में शांति बहाल हो। विचारों की आजादी होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि बिहार में रोजगार नहीं तो सरकार नहीं समेत अन्य मुद्दों को लेकर जाप 7 सितम्बर से जिला मुख्यालय से लेकर राज्यव्यापी आन्दोलन चलायेगा। इस अवसर पर अखलाक अहमद, प्रेमचन्द सिंह, एजाज अहमद, वाचस्पति सिंह समेत अन्य उपस्थित थे।

Share To:

Post A Comment: