पटना, (रिर्पोटर) : बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष  समन्वय समिति एवं अन्य शिक्षक संगठन द्वारा राज्य के प्रखंड कार्यलय में नियोजित शिक्षकों द्वारा अपनी विभिन्न मांगों को लेकर एक दिवसीय धरना दिया गया है इसपर प्रतिक्रिया देते हुए जन अधिकार पार्टी लोकतांत्रिक युवा परिषद के प्रदेश प्रवक्ता रजनीश कु० तिवारी ने राज्य सरकार को खूब खड़ी खोटी सुनाया है । उन्होंने प्रेस ब्यान जारी कर कहा नियोजित शिक्षकों के प्रति राज्य सरकार का रवैया उदासीन और नकारात्मक है शिक्षक अपना हक राज्य के मुखिया से  मांग रहें है अपनी अधिकार की लड़ाई राज्य में लड़ रहें लेकिन राज्य सरकार नियोजित शिक्षकों के साथ भेदभाव कर रही है जब ये शिक्षक सड़क पर  उतर अपनी मांग को ले प्रदर्शन करते है तो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार उनपे लाठी और गोली चलवाते है उनके आन्दोलन को कमजोड करने का प्रयास करते है  उनके मांगों को सिरे से खारिज कर दिया है । उन्होंने ने कहा कि ये शिक्षक ही देश का नींव रखते है और समाजिक न्याय की मार्ग को प्रसस्त करते हैं इनकी वजहं से ही लोग शिक्षा ग्रहण कर आईएएस और आइपीएस और राजनेता बनते है और नीतीश कुमार जी भी शिक्षक से ही शिक्षा ग्रहण कर आज मुख्यमंत्री है । उन्होंने ने कहा ये कहाँ का न्याय है कि एक शिक्षक को उसी काम के लिए अलग वेतन औऱ उसी काम के लिए दूसरे सिक्षक को अलग वेतन मिलता है आखिर समान काम का समान वेतन क्यों नही? रजनीश ने विपक्ष पर आरोप लगाते हुए कहाँ की इन शिक्षको पर राजनीति करने के लिए विपक्षी दल आगे आ जातें है लेकिन विधानपरिषद और लोकसभा सदन में इनका आवाज कोई नहीं बनता इन मुद्दे पर कोई बहस नहीं होती लेकिन इनपर राजनीति खूब होती हैँ ।  रजनीश ने कहा कि जन अधिकार पार्टी आज पूरे बिहार में प्रखण्ड कार्यलय में शिक्षको की धरना में शामिल हुई है और उनके की मांग का समर्थन में है और आन्दोलनरत है पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव इनकी मांगो को सांसद रहते हुए प्रमुखता से लोकसभा में उठाते रहें है और सभी आंदोलनों में शिक्षकों के साथ खड़े रहें है  मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी को राज्य की विकास की गति अगर वास्त्विक रूप से देना चाहते है तो उन्हें शिक्षको की मांग को मान लेना चाहिय नहीं तो सत्ता और कुर्सी के स्वार्थ में यह दोनों से हाथ धो पड़ेंगे यही शिक्षक और इनके परिवार इनको चुनावँ में सबक सिखाने का काम करेंगे।


Share To:

Post A Comment: