पटना, (रिर्पोटर) : युवा राजद के प्रदेश प्रवक्ता सह मीडिया प्रभारी अरुण कुमार यादव ने डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी जी द्वारा लालू प्रसाद जी के पुत्र होने के वजह से तेजस्वी यादव जी को विरोधी दल का पद मिल गया जैसे बयानों पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि सुशील मोदी जी को मालूम होना चाहिए कि तेजस्वी यादव जी को पार्टी के विधायकों ने सर्वसम्मति से लोकतांत्रिक तरीके से उनके काबिलियत और कुशल नेतृत्व क्षमता को देखते हुए विरोधी दल का नेता पद के लिए चुना है। श्री यादव ने कहा कि नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव जी को विधानसभा के अंदर से लेकर बाहर तक तथ्यों के साथ हर मुद्दों पर बिंदुवार बात रखने की योग्यता का प्रमाण पत्र अफवाह और झूठ की राजनीति करने वाले सुशील मोदी जी जैसे नेताओं से लेने की जरुरत नही है। तेजस्वी यादव जी की राजनीतिक काबिलियत और कुशल नेतृत्व से प्रदेश की जनता पूरी तरह अवगत हो चुकी है। इसीलिए बिहार की जनता तेजस्वी यादव जी को भावी मुख्यमंत्री के रूप में देख रही है। श्री यादव ने कहा कि सुशील मोदी जी लालू परिवार फोबिया से पूरी तरह ग्रसित है। इसलिए खुद अपने डिप्टी सीएम पद की जिम्मेदारी निर्वाहन करने में पूरी तरह विफल साबित हुए है। बिहार में एनडीए की 14 वर्षो से सरकार है। नीतीश कुमार जी और सुशील मोदी जी अगर अपने दायित्व का निर्वाहन ईमानदारी से करते तो हर मुद्दों पर उच्च न्यायालय द्वारा बिहार सरकार को फटकार नही खानी पड़ती।


Share To:

Post A Comment: