पटना, (रिर्पोटर) :  हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (से०) के राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ दानिश रिजवान ने बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हम के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी की काबिलियत पर राजद नेता शिवानंद तिवारी के दिए बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है।दानिश ने कहा कि शिवानंद तिवारी जैसे स्वार्थी नेताओं के कारण ही आज राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद जेल की यातना सहने को मजबूर हैं।

      डॉ दानिश ने कहा कि शिवानंद तिवारी को उनके इन्हीं लक्षण के कारण जदयू में अपमानित होकर निकलना पडा।दानिश ने कहा कि जब उन्हें जदयू में सम्मान नहीं मिल रहा था और अपमान का घूंट पीना पड़ रहा था तो जनता दल यूनाइटेड के राजगीर शिविर में शिवानंद तिवारी ने अपने मुंह से नीतीश कुमार को यह स्पष्ट कहा था की बुड्ढा सुग्गा कभी पोस नहीं खाता तो फिर आखिर किस कारण से इस उम्र में लालू जी के पोसूआ बनने की कोशिश कर रहें हैं।जिस शिवानंद तिवारी अपने स्वार्थ की राजनीति के लिए जनेऊ तोड़ा और वह आज एक वार्ड का चुनाव तक कहीं से जीतने की हैसियत नहीं रखते उन्हें जीतन राम मांझी पर बयान देने का नैतिक अधिकार नहीं है ।

      डॉ दानिश ने कहा कि हम के राष्ट्रीय अध्यक्ष बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी का लंबे समय का राजनीतिक अनुभव व उनके द्वारा कम समय के मुख्यमंत्रीत्व काल में किए गए कार्य और उनके द्वारा मुख्यमंत्री के रूप में लिए गए निर्णय की काबिलियत को जनता ने देखा है। उनके सारे निर्णय जनहित में थे। आज राज्य सरकार भी उनके लिए गए निर्णयों में थोड़ा बहुत संशोधन कर उन्हीं के निर्णय पर आगे चल रही है । उसके बाद भी शिवानंद तिवारी जी का इस तरह का बयान उनकी बढ़ती उम्र की थकान को दर्शाता है ।


Share To:

Post A Comment: