पटना, (रिर्पोटर) : जदयू के वरिष्ठ नेता सुमन कुमार मल्लिक ने भारत सरकार के पूर्व एडिशनल सॉलिसिटर जनरल और देश के वरिष्ठतम वकील अमरेंद्र शरण के निधन पर गहरा दुःख व्यक्त किया है। उन्होंने कहा है कि अमरेंद्र शरण ओजस्वी एवं कुशल अधिवक्ता के साथ-साथ विलक्षण प्रतिभा के धनी थे। उन्होंने कहा कि देश हित एवं लोक-कल्याण के क्षेत्र में उनके द्वारा किये गये कार्यों को देश हमेशा याद रखेगा। श्री मल्लिक ने कहा कि स्व० शरण उनके बड़े भाई तुल्य थे। श्री मल्लिक ने कहा कि अमरेंद्र शरण 2004 से 2009 के बीच यूपीए सरकार के दौरान एएसजी थे। उन्होंने कहा कि अमरेंद्र शरण ने 2जी घोटाले, कोयला घोटाले जैसे बड़े केस में सीबीआई का प्रतिनिधित्व किया। वे ड्र्ग संबंधित कानून सुधार के लिए गठित मार्शेलकर कमेटी के सदस्य भी रहे। श्री मल्लिक ने कहा कि 2008 में उन्हें तत्कालीन प्रधानमंत्री डॉ० मनमोहन सिंह द्वारा राष्ट्रीय कानून दिवस पर "न्यायशास्त्र के वैज्ञानिक विकास के लिए उत्कृष्ट योगदान" के लिए प्रतिष्ठित पुरस्कार प्रदान किया गया था। 


श्री मल्लिक ने कहा कि  स्व० शरण हमेशा बहुत ही सज्जन और सौम्य शख्सियत के तौर पर याद किये जायेंगे। उन्होंने कहा कि कानून के विद्वान और शिखर के वकीलों में शुमार होने के बावजूद अमरेंद्र शरण बेहद सहज और सरल व्यवहार के व्यक्ति थे। श्री मल्लिक ने अमरेंद्र शरण के निधन को देश के साथ- साथ उनके लिए भी व्यक्तिगत क्षति बताया। उन्होंने कहा कि ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करें और संकट की इस घड़ी में परिजनों को कष्ट सहन करने की शक्ति दें।


Share To:

Post A Comment: