पटना,(रिर्पोटर) : कांग्रेस पर चुटकी लेते हुए भाजपा प्रवक्ता सह पूर्व विधायक  राजीव रंजन ने पुछा “ लोकसभा चुनावों में मिली करारी हार को कांग्रेस पार्टी आज तक पचा नही पा रही है. इन चुनावों में जनता का रुख देखकर इनके नेता और इनकी पार्टी अंदर तक हिल चुके हैं. इनके नेताओं का आत्मविश्वास इस कदर डोल चुका है कि कोई भी पार्टी की जिम्मेवारी उठाने के लिए तैयार नही है. याद करें तो चुनाव हारने के बाद पहले राहुल जी अध्यक्ष पद से भाग खड़े हुए, जिसके बाद इन लोगों ने प्रियंका वाड्रा का नाम जपना शुरू कर दिया, लेकिन बीते दिनों प्रियंका वाड्रा जी ने भी अध्यक्ष बनने से इंकार कर दिया है, वहीं सोनिया बीमारी के कारण इस पद को संभाल नही सकतीं. इसके बाद अब इनके परिवार में सिर्फ रॉबर्ट वाड्रा ही बच रहे हैं. ऐसे में प्रश्न उठता है कि क्या प्रियंका के इंकार के बाद कांग्रेस रॉबर्ट वाड्रा को अपना अध्यक्ष बनाने वाली है?”


श्री रंजन ने आगे कहा “ अपने कारनामों से कांग्रेस की स्थिति आज सांप-छुछुंदर वाली हो गयी है. इन्हें न तो उगलते बन रहा है और न निगलते. पार्टी में राजतंत्र और चाटुकारिता की संस्कृति होने के कारण यह लोग गाँधी परिवार से अलग देख नही सकते और गाँधी परिवार से कोई पार्टी की जिम्मेवारी लेने के लिए तैयार नही है. इसके अलावा कांग्रेस के किसी नेता में ऐसी हिम्मत नहीं है कि पार्टी हित को ऊपर रखते हुए किसी और नेता का नाम अध्यक्ष पद के लिए ले सके. ऐसे में कांग्रेस के लोग अगर रॉबर्ट वाड्रा को कांग्रेस अध्यक्ष बना दें तो किसी को कोई आश्चर्य नही होना चाहिए. कांग्रेस देश को बताए कि क्या अब उनकी पार्टी की कमान गाँधी परिवार से हट कर वाड्रा परिवार के पास जाने वाली है?”  


भाजपा प्रवक्ता ने कहा “ कांग्रेस के स्थापकों ने कभी सोचा भी नही होगा कि कभी कांग्रेस की ऐसी दयनीय स्थिति भी हो सकती है. लोग जानते हैं कि एक नयी-नयी बनी पार्टी के अध्यक्ष पद के लिए भी लोगों की लाइन लग जाती है, लेकिन देश की सबसे पुरानी पार्टी को अपनी कमान संभालने वाला मिल तक नही रहा. इसके लिए पूरी की पूरी कांग्रेस पार्टी जिम्मेदार है, जिन्होंने पार्टी से लोकतंत्र का खात्मा करने गाँधी परिवार को अपना पूरा सहयोग दिया.


Share To:

Post A Comment: