पटना, (रिर्पोटर) : राजद के सहायक राष्ट्रीय निर्वाचन पदाधिकारी चितरंजन गगन  भाजपा और जदयू नेताओं द्वारा किये गये टिप्पणी पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त  कर  कहा है कि राजद के बढ़ते जनाधार से भाजपा-जदयू नेताओं की बेचैनी बढ़ गई है।

राजद नेता ने कहा है कि राजद द्वारा शुरू किये गये राष्ट्रव्यापी सदस्यता अभियान में राजद की सदस्यता ग्रहण करने के लिए जिस प्रकार आम लोगों की अभिरूची देखी गयी उससे भाजपा और जदयू नेताओं का परेशान होना स्वाभाविक है। इन लोगों द्वारा तरह-तहर के दुष्प्रचार और साजिश के बावजूद राजद के जनाधार में जबरदस्त बढ़ोतरी हुई है जो कल सदस्यता अभियान के प्रथम दिन ही देखने को मिला। इसे भाजपा और जदयू के लोग पचा नहीं पा रहे हैं।

राजद नेता ने कहा कि भाजपा और जदयू नेताओं के बयान से उनकी तानाशाही मानसिकता की झलक मिलती है। किसी भी दल का सदस्य बनना व्यक्तिगत स्वतंत्रता है। जिसको जिस पार्टी की नीति और नेता पर भरोसा होता है उसका वह सदस्य बनता है। भाजपा और जदयू नेता किसी को डिक्टेक्ट नहीं कर सकते हैं। उनके विघटनकारी, असंवैधानिक, गैर लोकतांत्रिक और अवसरवादी सोंच के कारण उनके साथ कोई जुडऩा नहीं चाह रहा है। और इसलिए वे मिस्डकॉल पर सदस्य बना रहे हैं। जबकि राजद का सदस्यता अभियान पूर्णत: पारदर्शी और लोकतांत्रिक तरीके से चल रहा है। बेहतर होता कि वे दूसरों पर अंगूली उठाने के बजाय अपने आचरणए व्यवहार और सोंच पर समीक्षा कर सुधार लाते तो शायद उन्हें ऐसी मन:स्थिति का सामना करना नहीं पड़ता।


Share To:

Post A Comment: