पटना,  (रिर्पोटर): प्रदेश में शिक्षा के प्रति राज्‍य सरकार की उदासीनता के खिलाफ जन अधिकार छात्र परिषद शनिवार, 14 सितम्‍बर 2019 को राज्‍य के तमाम विश्‍वविद्यालयों के समक्ष महाधरना का आयोजन करेगी, जिसमें राज्‍यभर से लाखों छात्र शामिल होंगे। उक्‍त बातें आज पटना में जन अधिकार पार्टी (लो) के मंदिरी स्थित प्रदेश कार्यालय में जन अधिकार छात्र परिषद के प्रदेश अध्यक्ष गौतम आनंद और प्रदेश प्रभारी राजेश रंजन पप्पू ने संवाददाता सम्‍मेलन में दी। इससे पहले दोनों नेताओं ने संयुक्‍त रूप से 145 सदस्यीय छात्र परिषद के क्रांति कमिटी की भी घोषणा की।

क्रांति  कमिटी की घोषणा के बाद गौतम आनंद और राजेश रंजन पप्पू ने पत्रकार वार्ता में कहा कि यह कमिटी बिहार की बदहाल एवं बर्बाद शिक्षा व्यवस्था को सुधारने, शिक्षकों की कमी एवं कॉलेजों में PG – UG  की सीटो में बढ़ोतरी के साथ साथ सभी विश्वविद्यालय में नियमित कक्षा व नियमित सत्र संचालन के लिए राज्यव्यापी छात्र आन्दोलन का आगाज छात्र परिषद के द्वारा 14-सितम्बर-2019 को कर रही है। इसके अलावा छात्र परिषद शिक्षा के प्रति राज्य सरकार की उदासीनता के खिलाफ आगामी 7 दिसम्बर 2019 को व्यापक राजभवन मार्च भी करेगी।

छात्र परिषद के नेताओं ने बताया कि राजभवन मार्च से पूर्व जन अधिकार छात्र परिषद प्रदेश भर के विवि सघन सदस्‍यता अभियान चलायेगी, क्‍योंकि छात्र परिषद ने 7 लाख छात्रों को सदस्‍यता अभियान के तहत सदस्‍य बनाने का लक्ष्‍य तय किया। उन्‍होंने कहा कि यह क्रांति कमिटी बिहार एवं देश में व्याप्त सरकारी तानाशाही और शिक्षा की बदहाली के खिलाफ जे पी आन्दोलन के तर्ज पर व्यापक छात्र, किसान, मजदूर आन्दोलन का शंखनाद करेगी।  

संवाददाता सम्‍मेलन में राष्ट्रीय महासचिव सह प्रवक्ता प्रेमचंद सिंह, छात्र परिषद प्रधान महासचिव आजाद चांद, प्रदेश उपाध्यक्ष आलोक सिन्हा, महासचिव राहुल रूद्र, प्रकाश सिंह, कुंदन यादव, आदित्य मिश्रा, पिंटू कुमार, संजीव कुमार, संदीप कुमार, मोनू, प्रेम, शौकत आदि छात्र नेता मौजूद रहे।

Share To:

Post A Comment: