पटना, (रिर्पोटर) : भारतीय मित्र पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष धनेश्वर महतो ने कहा कि जब से बिहार में शराबबंद किया गया है मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा हम लोगों ने पूरा समर्थन किया था। एक अच्छा कदम है। लेकिन इसका पूरा बिहार में दुरूपयोग इस कदर से बढ़ा कि आज हर गांव में हर चौक चौराहे पर दारू खुलेआम मिल रहा है। यूं कहें तो हर घर में एक फोन करो और दारू आपके यहां पहुंच जाता है। एक हजार रुपये की बोतल इससे राज्य सरकार को तो नुकसान हुआ ही राजकोष के लिए इसमें जल्दी किसी की चांदी हुई है तुम शराब माफियाओं की पुलिस वालों की। क्योंकि आज के समय में मैं दावे से कह सकता हॅू कि 100 में 90 अधिकारी दारू पीते हैं जिसका कई प्रमाण आपको मिले हैं। उक्त बातें राष्ट्रीय अध्यक्ष धनेश्वर महतो ने संवाददाता सम्मेलन में कही।

श्री महतो ने बताया कि जब से दारू बंद हुआ है तब से कई पुलिस वाले पकड़ में आये हैं, कई सरकारी अधिकारी नशे की हालत में पकड़ायें हैं।अब मैंने सुना है कि गुटखा बिहार सरकार ने बंद कर दिया है किसी भी चीज को बंद करना समस्या का समाधान नहीं है। समाधान के लिए कानून को मजबूत होना चाहिए। उन्होंने कहा कि अधिकारी को ईमानदार होना चाहिए और कानून को सख्ती से पालन करना चाहिए। जब नीतीश कुमार पहली बार मुख्यमंत्री बने तो उन्होंने प्रत्येक पंचायत में दारू बेचने का एक ठेकेदार बहाल कर दिये। उसी की लत है कि आज हजार रुपये वाली दारू किसी न किसी तरह लोग पीना चाह रहे हैं।


Share To:

Post A Comment: