नालन्दा, (रिर्पोटर) : राजनीति को स्वच्छ और लोकतांत्रिक संस्था बनाने की जरूरत है।परिवारवाद, भ्रष्टाचार और व्यक्तिवादी राजनीति ने पूरे राजनीति और देश को कलंकित कर दिया है। राजनीति का परिभाषा ही बदल दिया है। पहले पार्टी के नेता होते थे,अब नेताओं की पार्टी हो गई है।
          यह बात आज नालंदा बिहारशरीफ  चोरा बग़ीचा में आयोजित लोक जनशक्ति पार्टी सेक्यूलर  के कार्यकर्ता सम्मेलन का उदघाटन करते हुए पार्टी के संस्थापक डॉ सत्यानंद शर्मा ने कहा।
             डॉ शर्मा ने कहा कि देश की 73 वर्षो के आजादी के बाद भी अतिपिछड़ा को सत्ता और संपत्ति से दूर रखा गया है। 36 प्रतिशत आबादी वाले अतिपिछड़ों के साथ अन्याय किया गया है। आज समय और राजनीति का मांग है कि बिहार में अतिपिछड़ों के हाथ मे सत्ता सौपा जाये। इसी लिए पार्टी ने घोषणा किया है कि 2020 में अतिपिछड़ा मुख्यमंत्री होगा सभी राजनैतिक दलों के लिए यह विचारणीय विषय है। अपनी चिंता और व्यक्तिवादी राजनीति का त्याग कर सोचें।
        मुख्य अतिथि पद से बोलते हुए पार्टी के मुख्य प्रवक्ता विष्णु पासवान ने कहा लोक जनशक्ति पार्टी सेक्यूलर कार्यकर्तओं की पार्टी है यहां कार्यकर्ता ही पार्टी के  असली मालिक होगें। हमारी पार्टी टिकट बेचवा पार्टी नही बनेगी।
       इनके अलावे सम्मेलन को युवा लोजपा सेक्यूलर  के राष्ट्रीय अध्य्क्ष अनिल कुमार पासवान, कामता प्रसाद चंद्रवंसी, अमित सिंह,नीरज शर्मा,देवेन्द्र प्रसाद सिन्हा,  शंकर पाण्डेय,  भूषण कुमार यादव, सरवन मिस्त्री, योगेन्द्र प्रसाद, संतोष मिस्त्री,  अशोक शर्मा एवं भोला मिस्त्री ने भी संबोधित किया।

Share To:

Post A Comment: