पटना, (रिर्पोटर) :नेत्रदान के प्रति जागरुकता फैलाने के लिए आज सगुना मोड़ स्थित दृश्टिपुंज नेत्रालय से चिकित्सकों का दल सगुना मोड  बेलीरोड से आरपीएस मोड और पुन: सगुना मोड तक साईकिल पर सवार होकर  हाथ में तख्तियां लिए और उनपर लिखे संदेश से आम अवाम को जागरुक करने  के लिए एक रैली निकाली। मालूम हो कि अगस्त के अंतिम सप्ताह से सितंबर के पहले सप्ताह तक  नेत्रदान पखवारा मनाया जाता है। इस वर्ष  25 अगस्त से 8 सितम्बर तक नेत्र दान पखवाड़ा मनाया जा रहा है।

इस अवसर पर लोगो को नेत्रदान के प्रति प्रेरित करने के लिए दृष्टिपुंज नेत्रालय के चिकित्सकों एवं अन्य कर्मचारियों ने काफी उत्साहपूर्वक साइकिल रैली में भाग लिया।  निदेशक डा. सत्य प्रकाश तिवारी ने बताया कि भारत में लाखों लोग कार्निया की खराबी की वजह से नेत्रहीनता से ग्रस्त हैं। ऐसे मे नेत्र दान से उन लोगो को पुन: दृष्टि प्रदान की जा सकती है। निदेशक डा. रणधीर झा ने कहा कि भारत मे प्रत्यारोपण के लिए कार्निया की भारी कमी है, ऐसे मे नेत्रदान के लिए लोगों को जागरूक करना बहुत आवश्यक है। कार्निया विशेषज्ञ डा. वन्दना कुमारी ने बिहार मे अधिक से अधिक नेत्र बैंक स्थापित करने की आवश्यकता पर जोर दिया।

इस मौके पर दृष्टिपुंज नेत्रालय की निदेशक डा. निम्मी रानी, ने बताया कि थोड़ी सी जागरुकता किसी के लिए आशा की किरण बन सकती है। मृत्यु के बाद आपकी आंखों से कोई और भी दुनिया देख सकता है।  शपथपत्र भरकर कोई भी नेत्रदान कर सकता है। यह बडी सरल प्रक्रिया है। उन्होंने बताया कि मौजूदा समय में सिर्फ 10 प्रतिशत मरीज ही नेत्रदान का लाभ उठा पाते हैं। ऐसा जागरुकता की कमी के कारण होता है।  सरकार और मीडिया के सहयोग से आमलोगों को प्रेरित किया जा सकता है।


Share To:

Post A Comment: